भुवनेश्वर, जेएनएन। जेएनयू शैली में भुवनेश्वर में मुखौटा पहनकर मार्केट बिल्डिंग इलाके में शुक्रवार देर शाम को आतंक फैलाने वाले अभियुक्तों के नाम पर कमिश्नरेट पुलिस ने दंगा फैलाने जैसा गंभीर मामला दर्ज किया है। यह जानकारी शनिवार को पुलिस कमिश्नर सुधांशु षडंगी ने दी है। पुलिस कमिश्नर ने कहा है कि मार्केट बिल्डिंग हमला मामले में 30 युवक शामिल थे। इनमें से 21 युवकों की पहचान पुलिस ने करने के साथ 18 को गिरफ्तार कर लिया है। 

पुलिस कमिश्नर ने कहा है कि ये अभियुक्त किसी राजनीतिक पार्टी से नहीं जुड़े हैं। इनमें से अधिकांश स्कूल एवं कालेज में पढ़ने वाले छात्र हैं। गिरफ्तार 18 अभियुक्तों में से 12 नाबालिग हैं। पुलिस कमिश्नर ने कहा है कि मारपीट घटना के बाद दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने बताया कि इस घटना के गोपी, चिंटू एवं प्रीतम मुख्य आरोपी हैं। 

गौरतलब है कि एक दिन पहले राजधानी भुवनेश्वर में मुखौटा पहनकर कुछ युवक यूनिट दो मार्केट बिल्डिंग केशरी माल के सामने आतंक का माहौल उत्पन्न कर दिया था। करीबन आधे घंटे तक उक्त इलाके में अफरातफरी का माहौल बन गया था। अस्थाई दुकानों को तोड़ने के साथ उन्हें दौड़ा दौड़ाकर पीटने लगे। यहां तक कि बाजार में खरीददारी करने आने वाले लोगों को भी इन युवकों ने नहीं छोड़ा। इससे केशरी माल इलाके में भयंकर परिस्थिति उत्पन्न हो गई थी। लोग इधर उधर भागने लगे।

कलयुगी बेटे की करतूत, मां की हत्या के बाद शव के टुकड़े कर बेडशीट में बांधे

घटना के शांत होने के बाद अस्थाई दुकानदार अभियुक्तों को तुरन्त गिरफ्तार करने की मांग कर विरोध प्रदर्शन करने के बाद कमिश्नरेट पुलिस के अतिरिक्त कमिश्नर अनूप साहू अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और परिस्थिति को नियंत्रित किया था। मौके पर दो प्लाटून पुलिस बल तैनात किए थे।

दाउद का गुर्गा लकड़ावाला मोबाइल पर मैसेज भेज मांगता था फिरौती, पढ़ें- जांच में सामने आए कुछ संदेश

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस