बड़गांव, जेएनएन। सुंदरगढ़ जिले के बड़गांव रेंज अंतर्गत पटुआबेड़ा गांव में सोमवार की शाम हाथियों ने एक महिला को न सिर्फ कुचलकर मार डाला। मंगलवार की सुबह पुलिस और वनकर्मियों ने उसका शव बरामद किया। इस घटना के बाद ग्रामीणों में दहशत है। इस क्षेत्र में 40 हाथियों का एक झुंड पिछले काफी दिनों से उत्पात मचा रहा है। वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शन स्क्वायड की टीम खदेड़ने का प्रयास कर रही है।

पटुआबेड़ा निवासी वनमाली नायक ने बताया कि सोमवार की शाम वह पत्नी उरो नायक (58) के साथ धान काटने गया था। शाम होने पर वह घर लौट आया जबकि पत्नी धान समेटने की बात कहकर वहीं रुक गयी थी। देर शाम तक वह घर नहीं लौटी तो तलाशने की कोशिश की, लेकिन नहीं मिली।

जब मंगलवार की सुबह खेत के पास गया तो उसकी लाश टुकड़ों में नजर आयी। घटना की जानकारी मिलने पर सुंदरगढ़ रेंजर आरके स्वाईं, फोरेस्टर नरेश कुमार भोइ, कृष्णा गरडिया व संजय नायक, वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शन स्क्वायड के कर्मचारी, थाना के सब- इंस्पेक्टर रंजीत प्रधान मौके पर पहुंचे। लाश का पंचनामा करने के बाद पोस्टमार्टम कराया।

प्रखंड विकास पदाधिकारी क्षमानिधि भोई ने रेड क्रास कोष से अंतिम संस्कार के लिए पांच हजार रुपये प्रदान किया। वन विभाग की ओर से सरकार की घोषणा के अनुसार अनुसार चार लाख रुपये देने का भरोसा दिया। उल्लेखनीय है कि 29 सितंबर को बड़गांव टेंगराबहाल गांव के किशोर प्रधान को कुचल कर मार डाला था जबकि 28 नवंबर को सियालजोर गांव के गोविंद शा को कुचलकर मार डाला था।  

हाथियों द्वारा लोगों को कुचलने एवं पटक कर मारने की घटनाएं देखी गई हैं पर ऐसी क्रूरता पहली बार दिखी। वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शन स्क्वायड के कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचकर लाश बरामद किया। 

नरेश कुमार भोई, फॉरेस्टर, बड़गांव।

 सड़क हादसे और आग से झुलसे दो युवकों की मौत 

सासन थाना क्षेत्र में रविवार को अलग अलग हादसों का शिकार होकर बुर्ला हॉस्पिटल में भर्ती दो युवकों की मौत सोमवार को इलाजरत अवस्था में हो गयी। पुलिस दोनों घटनाओं में अपमृत्यु का मामला दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम करने के बाद परिवार वालों को सौंप दिया है। 

रेंगाली पुलिस के अनुसार, रविवार की शाम जंगला गांव का 35 वर्षीय सुदाम सराफ तिलेइमाल गांव से वापस अपने गांव लौट रहा था तभी एक मोड़ पर उसकी बाइक अनियंत्रित हो गयी और सुदाम गिरकर बुरी तरह घायल हो गया था। उसके सिर पर गहरी चोट लगी थी। स्थानीय लोगों ने उसे पहले रेंगाली अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां से उसे बुर्ला हॉस्पिटल स्थानांतरित किया गया था, जहां उसकी मौत हो गयी।

इसी तरह सासन थाना अंतर्गत कुकुडापाली गांव में रविवार की सुबह 25 वर्षीय जगदीश खड़िया आग से झुलस गया था। घटना वाले दिन जगदीश अपने घर के बाहर अलाव ताप रहा था तभी उसके कपड़े में आग लग गई। जगदीश आग की लपटों में घिर गया था। यह देख पड़ोसियों ने उसे आग से बचाकर इलाज के लिए बुर्ला हॉस्पिटल में भर्ती कराया था, जहां उसकी मौत हो गयी।

OLA ड्राइवर की झपकियों से डर यात्री को सूझा ये एकमात्र उपाय

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस