फ्लोरिडा। अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा (नैशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन) ने आज एक बड़ा खुलासा किया है। यह खुलासा मंगल ग्रह से जुड़ा है। नासा ने घोषणा की है कि मंगल पर पानी है। वहां बहते पानी का स्पष्ट संकेत मिला है।

मंगल की परिक्रमा करने वाले नासा के उपग्रह द्वारा प्राप्त जानकारी के मुताबिक लालग्रह पर बहते पानी का स्पष्ट प्रमाण है। अब तक पृथ्वी के निवासियों को यह गुमान था कि सिर्फ उनके ग्रह पर ही पानी मौजूद है लेकिन इस नई खोज से उनके गुमान को झटका लगा है। इस बारे में SITI इंस्टीट्यूट ऑफ प्लानेटरी के वैज्ञानिक जेनिस विशप का कहना है कि मंगल पर पानी का मिलना उत्साहजनक बात है। गौरतलब है कि विशप इस शोध अभियान से जुड़े नहीं हैं।

नासा के वैज्ञानिकों ने कहा है कि कम से कम गर्मी के मौसम में वहां नमकीन पानी की बहती धाराएं मौजूद होती हैं। इससे पहले मंगल पर जमा हुआ पानी मिलने की खबरें आ चुकी हैं।

नासा ने संवाददाताओं को बताया कि नई जानकारियां इस बात का पुख्ता तौर पर समर्थन करती हैं कि मंगल पर कुछ खास जगहों पर हर गर्मी के दौरान नमकीन पानी की धाराएं बहती हैं। गर्मी के बढ़ने के साथ-साथ ये धाराएं और ज्यादा बड़ी हो जाती हैं और बाकी साल गायब रहती हैं। यह खोज इसलिए अहम है क्योंकि पानी का जीवन के होने या ना होने पर बहुत ज्यादा प्रभाव है। अगर मंगल पर पानी है तो वहां जीवन की मौजूदगी की संभावनाएं भी बढ़ जाती हैं।

माना जा रहा है कि मंगल पर इतना पानी मौजूद है कि काफी संख्या में झील और नदी पानी से भर सकते हैं। जबकि इससे पहले हमारा मानना था कि मंगल भी चांद की तरह पूरी तरह से बंजर है।

पढ़ेंः मंगल की मिट्टी को धरती पर लाएगी नासा

Posted By: Manoj Yadav