वाशिंगटन, प्रेट्र। वाशिंगटन के केंट में सिख युवा दीप राय को देश छोड़कर जाने के लिए कहते हुए गोली मारने की घटना की जांच में अमेरिकी खुफिया संस्था एफबीआइ भी शामिल हो गई है। भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक दीप को उनके घर के बाहर शुक्रवार को गोली मारी गई थी, उस समय वह कार में बैठकर कुछ काम कर रहे थे। इसे घृणास्पद अपराध माना गया है। इससे पहले दस दिनों के भीतर चार अन्य भारतीय भी अप्रत्याशित घटनाओं के शिकार हो चुके हैं।

दीप राय पर हुए हमले की जांच अभी तक पुलिस कर रही थी लेकिन घटना की गंभीरता को देखते हुए अब इसे एफबीआइ को देने का निर्णय लिया गया है। घटना के 24 घंटे बाद पुलिस को हमलावर को गिरफ्तार करने में सफलता नहीं मिली है। हमले में दीप के बांह में गोली लगी थी। अमेरिका की आंतरिक सुरक्षा में एफबीआइ जांच का बड़ा महत्व है। यह करीब वैसी ही है जैसी कि भारत में सीबीआइ जांच होती है।

एफबीआइ कंसास में युवा इंजीनियर श्रीनिवास कुचीभोतला की हत्या के मामले की भी जांच कर रही है। नस्लभेदी बहस के बाद एक अमेरिकी पूर्व नौसैनिक ने श्रीनिवास की गोली मारकर हत्या कर दी थी। घटना की अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संसद में अपने भाषण के दौरान निंदा की थी। भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने घटनाओं पर चिंता जताते हुए अमेरिकी प्रशासन से इन्हें रोकने की मांग की है। अमेरिका में भारतीय मूल के सांसद अमी बेरा और सिख समुदाय के लोगों ने प्रशासन से नस्लीय अपराधों पर रोक के लिए कड़े कदम उठाने की मांग की है।

यह भी पढ़ें: मणिपुर हाई कोर्ट ने आर्थिक नाकेबंदी को अवैध करार दिया

Posted By: Mohit Tanwar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस