लाहौर (प्रेट्र)। बस धीमी चलाने की शिकायत करने पर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में 29 वर्षीय सिख युवक की पगड़ी उतार कर फेंकने व मारपीट करने का मामला सामने आया है। छह लोगों पर ईशनिंदा कानून के तहत केस दर्ज किया गया है।

पंजाब के मुल्तान में रहने वाले महेंद्र पाल सिंह ने बताया कि वह कोहिस्तान-फैसल मूवर्स की एक बस से फैसलाबाद से मुल्तान जा रहा था। बस दिजकोट पहुंची तो इसमें खराबी आ गई। ठीक होने के बाद जब बस चली तो उसकी गति काफी धीमी हो गई थी। चिचवतनी बस टर्मिनल पहुंचने में पांच घंटे लग गए। वहां सिंह और दूसरे यात्रियों ने इसकी शिकायत ट्रांसपोर्ट कंपनी के स्टाफ से की और दूसरी बस से मुल्तान पहुंचाने की मांग की। सिंह ने कहा, 'इस मुद्दे पर बहस इतनी बढ़ गई कि स्टाफ और यात्रियों के बीच झगड़ा हो गया। इस दौरान बस टर्मिनल के हॉकर ने मेरी पगड़ी जमीन पर फेंक दी और दूसरे लोगों ने मारपीट की।

राजनीतिक रंजिश के चलते हुई थी पाक नेता सोरन सिंह की हत्या

डॉन न्यूज ने चिचवतनी पुलिस प्रमुख खैजर हयात के हवाले से बताया कि सिंह की शिकायत पर टर्मिनल के मैनेजर बाकिर अली समेत छह लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। उनकी गिरफ्तारी के लिए छापे मारे जा रहे हैं। महेंद्र ने आरोप लगाया कि कुछ स्थानीय राजनेता आरोपियों की मदद कर रहे हैं।

तालिबान ने ली सिख नेता सरदार सूरन सिंह की हत्या की जिम्मेदारी

Edited By: Kamal Verma