लखनऊ [जागरण ब्यूरो]। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश को खुशहाल बनाने में वह कोई कोर कसर बाकी नहीं रखेंगे। उनकी सरकार के छह माह में काम हुआ है, पर आगे और भी तमाम पड़ाव पार करने हैं। केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश की मंच पर मौजूदगी में उन्होंने कहा कि केंद्र से कई क्षेत्रों में सहयोग मिल रहा है। उनकी सरकार ने प्रदेश के विकास के लिए केंद्रीय सहायता लेने का कोई मौका नहीं गंवाया है। मुख्यमंत्री शनिवार को लखनऊ को 'जागरण फोरम' को सम्बोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने तो अपनी ओर से फोन करके यूपी के विकास योजनाओं के लिए धन मुहैया कराने के रास्ते सुझाए और पैसा उपलब्ध कराया। यादव ने इसी के साथ जोड़ा कि आखिर उप्र का विकास होगा तो देश भी आगे बढ़ेगा। यादव ने कहा बाहर से उद्योग आएं, अच्छी बात है पर देखना यह होगा जो स्थानीय उद्योग धंधे हैं उन पर कोई आंच न आने पाए।

मुख्यमंत्री ने विकास का ब्ल्यू प्रिंट पेश करते हुए कहा कि हर जिले की अपनी अलग पहचान है, कहीं कांच उद्योग है तो कहीं कालीन उद्योग, कहीं पर्यटन है तो कहीं आलू और लहसुन उत्पादन। ऐसे में इन क्षेत्रों की खासियत को ध्यान रखते हुए योजनाएं बनाई जानी चाहिए, जिससे अर्थव्यवस्था ज्यादा मजबूत होगी। उन्होने कहा कि प्रदेश के ऐसे तमाम इलाकों को विकास का लाभ दिलाया जा सकता है, यदि वहा की जनता को आवागमन के बेहतर साधन मुहैया करा दिये जाएं। इसके मद्देनजर राज्य सरकार सड़क निर्माण को काफी महत्व दे रही है। यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में निवेश कैसे आए और यहा अवस्थापना सुविधाओं को किस प्रकार सुधारा जाए, राज्य सरकार इस पर पूरा ध्यान दे रही है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर