चेन्नई, प्रेट्र: मद्रास उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश ताहिलरमानी का मेघालय तबादला किए जाने के खिलाफ इसी उच्च न्यायालय में एक याचिका दायर की गई है। अधिवक्ता एम करपागम ने याचिका दायर कर मुख्य न्यायाधीश का मेघालय उच्च न्यायालय तबादला करने की सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम की सिफारिश को प्रभावी करने से राष्ट्रपति कार्यालय को रोकने का अनुरोध किया है।

तबादला नहीं निर्णयक फैसला

याचिकाकर्ता  ने दलील दी कि इस तरह की याचिका उच्च न्यायालय के अधिकार क्षेत्र में आती है। उन्होंने कहा कि तबादला प्रस्ताव कोई न्यायिक निर्णय नहीं है, बल्कि एक प्रशासकीय सिफारिश है और इसलिए उच्च न्यायालय इस विषय में निर्णय कर सकता है। हालांकि, पीठ ने फौरन सुनवाई से इनकार कर दिया और कहा कि याचिका सुनवाई योग्य है या नहीं, इस विषय पर फैसला इसके सूचीबद्ध होने पर किया जाएगा।

 8 अगस्त को किया था नियुक्त

पिछले साल 8 अगस्‍त को ताहिलरमानी को मद्रास हाई कोर्ट का चीफ जस्‍टिस नियुक्‍त किया गया था। इसके बाद कोलेजियम ने 28 अगस्‍त को उनके ट्रांसफर का प्रस्‍ताव रखा। अपने तबादले के आदेश पर पुनर्विचार के लिए उन्‍होंने सु्प्रीम कोर्ट कोलेजियम से अपील की जिसे ठुकरा दिया गया था, इसके बाद उन्‍होंने अपना इस्‍तीफा राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद को सौंप दिया था। इसके बाद से ही ये मामला शांत होने का नाम नहीं ले रहा है।

 नहीं हो सकता दोबारा विचार

कोलेजियम ने कहा पिछले दिनों कहा था कि जस्टिस ताहिलरमानी के अनुरोध पर विचार करना संभव नहीं है क्योंकि मेघालय हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस एके मित्तल का ट्रांसफर पहले ही मद्रास हाई कोर्ट में किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें: SC के फैसले से आहत मद्रास हाईकोर्ट की चीफ जस्‍टिस वीके ताहिलरमानी ने दिया इस्‍तीफा

Posted By: Pooja Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप