Move to Jagran APP

Human-Animal Conflicts: केंद्रीय मंत्री भूपेन्द्र यादव करेंगे वायनाड का दौरा, जंगली जानवरों के हमले के मुद्दे पर करेंगे चर्चा

Human-animal conflicts केरल के वायनाड में जंगली जानवरों के हमले में तीन लोगों की मौत पर कुछ दिनों बाद हिंसक विरोध प्रदर्शन हुआ। केंद्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्री भूपेन्द्र यादव ने बुधवार को कहा कि वहां स्थिति बहुत गंभीर है इसलिए उन्होंने भारतीय वन्यजीव संस्थान के वरिष्ठ वैज्ञानिकों को बुलाया है और वह पीड़ितों से भी मुलाकात करेंगे। मंत्री ने कहा मैं वहां जाऊंगा और पीड़ितों से भी मिलूंगा।

By Jagran News Edited By: Versha Singh Published: Wed, 21 Feb 2024 01:50 PM (IST)Updated: Wed, 21 Feb 2024 01:50 PM (IST)
Human-Animal Conflicts: केंद्रीय मंत्री भूपेन्द्र यादव करेंगे वायनाड का दौरा, जंगली जानवरों के हमले के मुद्दे पर करेंगे चर्चा
Human-animal conflicts: केंद्रीय मंत्री भूपेन्द्र यादव करेंगे वायनाड का दौरा

पीटीआई, बेंगलुरु। Human-animal conflicts: केरल के वायनाड में जंगली जानवरों के हमले में तीन लोगों की मौत पर कुछ दिनों बाद हिंसक विरोध प्रदर्शन हुआ है।

loksabha election banner

केंद्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्री भूपेन्द्र यादव ने बुधवार को कहा कि वहां स्थिति बहुत गंभीर है इसलिए उन्होंने भारतीय वन्यजीव संस्थान के वरिष्ठ वैज्ञानिकों को बुलाया है और वह पीड़ितों से भी मुलाकात करेंगे।

वायनाड में सभी तीन प्रमुख राजनीतिक मोर्चों द्वारा क्षेत्र में जंगली जानवरों के हमलों की बढ़ती संख्या के विरोध में एक जिलाव्यापी हड़ताल का आह्वान किया गया था। जहां वन विभाग के एक इको-टूरिज्म गाइड को एक जंगली जानवर ने कुरुवा द्वीप के पास मार डाला था।

उन्होंने केम्पेगौड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर संवाददाताओं से कहा, वहां संघर्ष की स्थिति है और मैं वायनाड जा रहा हूं। हमें लगता है कि स्थिति बहुत गंभीर है। इसलिए, मैंने WII (भारतीय वन्यजीव संस्थान) के वरिष्ठ वैज्ञानिकों, राज्य और केंद्रीय अधिकारियों को बुलाया। मेरे अधिकारियों ने मुझे स्थिति से अवगत कराया है। उन्होंने कहा, मैं जाऊंगा और पीड़ितों से भी मिलूंगा और हम उचित निर्णय लेंगे।

मंत्री ने कहा कि ऐसी विरोधाभासी स्थितियों में इस्तेमाल की जाने वाली तकनीक के लिए सतर्कता की आवश्यकता होती है और वह व्यक्तिगत रूप से देखेंगे कि क्या सतर्कता में या प्रशासन की ओर से कोई चूक हुई है।

मंत्री ने कहा, हम केंद्र सरकार से सलाह जारी करते रहे हैं। हमें जानवरों के प्रति सहानुभूति रखने की जरूरत है। इन विरोधाभासी स्थितियों में हम जिस तकनीक का उपयोग करते हैं, उसके लिए सतर्कता की आवश्यकता होती है। मुझे बताया गया है कि इन मामलों में हाथी को रेडियो कॉलर लगाया गया था, लेकिन मैं व्यक्तिगत रूप से यह देखना चाहता हूं कि क्या सतर्कता और/या प्रशासन में कोई खामियां थीं। मैं मृतक के परिवार से मिलूंगा। मैं मुआवजे के बारे में भी जानकारी लूंगा। एक बार जब मेरे पास निश्चित विवरण होगा तो मैं आगे टिप्पणी करूंगा।

यह भी पढ़ें- Gaganyaan Mission: गगनयान मिशन के लिए क्रायोजेनिक इंजन अब है मानव-रेटेड, ISRO ने दी जानकारी

यह भी पढ़ें- I.N.D.I.A ब्लॉक में शामिल नहीं हुआ हूं', कमल हासन बोले- राष्ट्र के लिए निःस्वार्थ विचार वाले किसी भी व्यक्ति का करूंगा समर्थन


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.