नई दिल्ली। विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रवीण तोगड़िया ने कुछ दिनों पहले बालटाल में हुए अमरनाथ यात्रियों पर हमले को लेकर अल्पसंख्यकों को चेताया है। एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए तोगड़िया ने धमकी भरे अंदाज में कहा कि आप [मुसलमान] गुजरात दंगों को भूल गए होंगे पर मुजफ्फरनगर तो याद होगा।

हिंदुओं को कमजोर समझने की भूल न करने की बात कहते हुए तोगड़िया ने कहा कि हमारी सहनशीलता की बार-बार परीक्षा न लें हमें भी ईट का जवाब पत्थर से देना आता है। अल्पसंख्यकों के साथ-साथ तोगड़िया जम्मू-कश्मीर सरकार से भी काफी नाराज दिखे। उन्होंने उमर सरकार पर आतंकियों के खिलाफ कारवाई करने से बचने का आरोप भी लगाया।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले पवित्र गुफा के प्रमुख आधार शिविर बालटाल में लंगर व तंबू वालों के बीच हुई तकरार के बाद भड़की हिंसा में 110 टेंट जला दिए गए थे। हिंसक भीड़ ने 15 लंगर और दो दर्जन से ज्यादा वाहनों को तोड़ा व लूटपाट की थी। 150 से ज्यादा गैस सिलेंडर भी फटे गए थे। इस दौरान 21 सुरक्षाकर्मियों सहित 60 से ज्यादा लोग जख्मी भी हुए थे। बताया जाता है कि एक लंगर के भीतर दो-तीन तंबू वालों की आपस में किराये को लेकर बहस हो रही थी। यह बहस उस समय शुरू हुई, जब एक तंबू वाले के रेट पर एतराज जताते हुए श्रद्धालुओं ने दूसरे टेंट वाले से संपर्क किया। लंगर के भीतर जब तंबू वाले आपस में उलझे तो एक सेवादार ने उन्हें रोका। वह सेवादार के साथ ही मारपीट करने लगे। इसी दौरान सेवादार ने कथित तौर पर एक धारधार वस्तु से एक तंबू वाले पर वार कर दिया।

पढ़ें: उत्साहित श्रद्धालु दर्शन के लिए रवाना

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप