मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जोधपुर, रंजन दवे। हिंदुस्तान और पाकिस्तान के बीच चलने वाली थार एक्स्प्रेस को रद कर दिया गया है। जोधपुर से साप्ताहिक चलने वाली थार एक्सप्रेस को अग्रिम आदेशो तक रद किया गया है। भारत सरकार के रेल मंत्रालय के आदेशों की पालना के तहत ये कदम उठाया गया है।

भारत सरकार द्वारा धारा 370 हटाने के बाद पाकिस्तान की ओर से तल्ख हुए तेवरों के मद्देनजर जहां समझौता एक्सप्रेस को रद्द किया गया था और उसके बाद विगत सप्ताह जोधपुर से रवाना होकर मुनाबाव पहुंची थार एक्सप्रेस के यात्रियों को काफी देर तक सरहद पर ही प्रतीक्षा करनी पड़ी थी ,उसके बाद उच्च स्तर पर हुए निर्णय के साथ थार एक्सप्रेस को आगामी आदेश तक रद्द किया गया है।

इसे भी पढ़ें: आशंकाओं के बीच 165 यात्रियों को लेकर सीमा पार कर कराची पहुंची थार एक्सप्रेस

उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसपंर्क अधिकारी अभय शर्मा से मिली जानकारी के अनुसार 14889/14890 भगत की कोठी-मुनाबाव-भगत की कोठी एक्सप्रेस, 00406/00405 मुनाबाव-जीरो पॉइंट-मुनाबाव थार एक्सप्रेस को रद किया गया है।

जोधपुर के उपनगरीय रेलवे स्टेशन भगत की कोठी से प्रत्येक शुक्रवार यह ट्रेन प्रस्थान करती है और रविवार सवेरे यह ट्रेन बाड़मेर के रास्ते सरहद में प्रवेश कर भगत की कोठी स्टेशन पर पहुंचती है। अगले आदेशो तक भगत की कोठी-मुनाबाव-भगत की कोठी थार एक्सप्रेस ट्रेन नहीं चलेगी।

बता दें कि थार एक्सप्रेस 18 फरवरी 2006 से शुरू हुई थी। इसके पहले यह ट्रेन 41 वर्षों तक स्थगित रही थी। उसके बाद फिर 2006 में शुरू हुई थी। दोनों देशों के बीच हुए समझौते के तहत 6 माह पाकिस्तान की ट्रेन चलती है जो कराची से भारत के बाड़मेर स्थित मुनाबाव रेलवे स्टेशन तक पहुंचती है।

थार एक्सप्रेस राजस्थान सीमा के आर-पार रहने वाले लोगों के बीच लोकप्रिय ट्रेन है। इसके साथ ही पाकिस्तानी हिंदू जो भारत आना चाहते थे उनको भी यह ट्रेन यह खूब पसंद थी।

इसे भी पढ़ें: Article 370: भारत के साथ व्यापारिक संबंध तोड़कर पाकिस्तान ने अपने पैरों पर ही मारी है कुल्हाड़ी

गौरतलब है कि जम्मू और कश्मीर में अनुच्छेद-370 हटाने के केंद्र सरकार के फैसले के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव लगातार बढ़ता रहा है। पाकिस्तान लगातार भारत पर दबाव बनाने की कड़ी में लगातार कूटनीतिक स्तर पर अनापशनाप फैसले ले रहा है।

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप