नई दिल्ली [जागरण ब्यूरो]। सियासी दांव-पेंच के माहिर राकांपा सुप्रीमो शरद पवार ने लोकसभा सीटों के बंटवारे से पहले ही कांग्रेस पर दबाव बढ़ाना शुरू कर दिया है। गुजरात दंगों के बारे में अदालत के हालिया फैसले के आधार पर भाजपा के पीएम प्रत्याशी नरेंद्र मोदी को क्लीनचिट देकर राकांपा सुप्रीमो ने बड़ी सियासी फिरकी फेंकी है। आम चुनाव से पहले संप्रग के लगातार सिकुड़ने की छवि को रोकने के लिए कांग्रेस जहां सक्रिय हुई है, वहीं पवार ने भी अगले 10 दिन में सीट बंटवारे का मुद्दा सुलझने की उम्मीद जताकर असली मुद्दे की गेंद भी कांग्रेस के पाले में फेंक दी है।

लोकसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे पर कांग्रेस और राकांपा में रस्साकशी चल रही है। दबाव के इस दिमागी खेल में राकांपा ने मोदी को क्लीनचिट देकर कांग्रेस को परोक्ष रूप से नए समीकरणों की चेतावनी भी दे दी है। लोकसभा चुनाव के लिए सौदेबाजी के बीच पहले प्रफुल्ल पटेल ने चेतावनी दी थी कि कांग्रेस की देरी के चलते राकांपा का धैर्य खत्म हो रहा है और अब उसके विकल्प खुले हैं। सूत्रों के मुताबिक पटेल ने कांग्रेस को तीन दिन की समयसीमा दी थी। साथ ही उन्होंने ने विकल्पों के बारे में बातचीत करते समय मोदी को गुजरात दंगों के लिए क्लीनचिट भी दे दी। उन्होंने कहा कि जब अदालत फैसला दे चुकी है, तो बात वहीं खत्म हो जाती है।

इतना ही नहीं, 17 जनवरी को पवार और मोदी की दिल्ली में मुलाकात की खबर भी चली। हालांकि, पवार ने इसका खंडन कर दिया, लेकिन भाजपा के साथ राकांपा की बढ़ती पींगें तब तक गुल खिला चुकी थीं। महाराष्ट्र में भाजपा की सहयोगी शिवसेना ने राकांपा के लिए दरवाजे बंद होने का बयान जारी कर दिया।

एनडीए में राकांपा के लिए कोई जगह नहीं: शिवसेना

पवार पर दोस्ती से महाराष्ट्र भाजपा में दोफाड़

सियासी सरगर्मी के बीच पवार ने भी मोदी के गुजरात दंगों में शामिल होने के सवाल पर कह दिया कि अदालत के आदेश का सम्मान होना चाहिए। पवार ने निश्चित रूप से कांग्रेस को यह संदेश तो दिया, लेकिन इसके पीछे उद्देश्य महाराष्ट्र में मनचाही सीटें और उसकी संख्या ही है। पवार ने ट्विटर पर संदेश दिया कि कांग्रेस के साथ सीट बटवारे का मुद्दा अगले 10 दिन में सुलझा लिया जाएगा। उन्होंनें प्रफुल्ल पटेल द्वारा कांग्रेस को कोई समयावधि देने की बात भी नकार दी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस