नई दिल्ली, प्रेट्र। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने एक भाजपा सांसद पर एक प्लास्टिक की बोतल के जरिए नदी को प्रदूषित करने के आरोप वाली याचिका को खारिज कर दिया है। भाजपा सांसद पर आरोप था कि उन्होंने सरयू नदी में बोतल फेंककर स्वच्छ भारत अभियान और गंगा सफाई अभियान का मजाक बनाया है।

जस्टिस दलीप सिंह और विशेष सदस्य रंजन चटर्जी की खंडपीठ ने बुधवार को कहा कि इस मामले में कोई दम नहीं है। इस याचिका को गुरग्राम के एक विश्वविद्यालय के दो छात्रों ने दायर किया था। उनका आरोप था कि उत्तर प्रदेश से एक महिला भाजपा सांसद ने गंगा की सहायक नदी सरयू में एक प्लास्टिक की बोतल फेंक दी। ऐसा उन्होंने तब किया जब उनके साथ उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के एक मंत्री भी मौजूद थे।

इस याचिका को अधिवक्ता गौरव बंसल के जरिए दायर किया गया था। ताकि भाजपा सांसद पर आपराधिक मामले के तहत जुर्माना लगाया जाए। यह याचिका मीडिया की एक रिपोर्ट पर आधारित थी जिसमें कहा गया था कि विगत दो जून को सरयू नदी का मुआयना करने आयी एक महिला भाजपा सांसद ने नदी में प्लास्टिक की बोतल फेंकी थी।

यह भी पढ़ें : महागठबंधन में भारी दरार, क्या राष्ट्रपति चुनाव के बाद गिर जाएगी बिहार सरकार

Posted By: Ravindra Pratap Sing

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस