राज्य ब्यूरो, कोलकाता। तृणमूल कांग्रेस के पूर्व नेता मुकुल राय के भाजपा में जाने की संभावना और बढ़ गई है, हालांकि आधिकारिक तौर पर उन्होंने अब तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं। सोमवार को उन्होंने दिल्ली में भाजपा नेताओं से मुलाकात की। तृणमूल छोड़ने का एलान करने के बाद पार्टी से छह साल के लिए निलंबित किए गए।

मुकुल राय ने दिल्ली में पश्चिम बंगाल के भाजपा प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय से बैठक की और रणनीति पर चर्चा की। करीब दो घंटे तक दोनों नेताओं के बीच बातचीत हुई। बाद में विजयवर्गीय ने कहा कि विकास में सब लोग साथ होने की कोशिश करते हैं।

मुकुल राय ने राज्यसभा की सदस्यता छोड़ने का भी एलान किया था। दो दिनों से वे दिल्ली में हैं। कहा जा रहा है कि मंगलवार या बुधवार को वह राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे सकते हैं, हालांकि उन्होंने यह साफ नहीं किया है कि वे आगे क्या करेंगे। शनिवार को दिल्ली पहुंचने के बाद उन्होंने बंगाल के कांग्रेस अध्यक्ष अधीर चौधरी व माकपा से निष्कासित राज्यसभा सांसद ऋतब्रत बनर्जी से भी मुलाकात की थी। इसके बाद रविवार को मीडिया में खबर आई कि उन्होंने केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की।

इससे पहले मुकुल ने भाजपा को धर्मनिरपेक्ष पार्टी बताते हुए कहा था कि दुर्गा पूजा पर मूर्ति विसर्जन से जुड़ा विवाद पश्चिम बंगाल सरकार की नाकामी है। मुकुल के तृणमूल छोड़ने को बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।

यह भी पढ़ें: केरल में सभी मिथकों को तोड़कर यह दलित बना पुजारी

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप