मैनपुरी, जासं। जैनमुनि तरुण सागर महाराज ने कहा कि मानता हूं देश को नरेंद्र मोदी जैसा समर्थ नेतृत्व चाहिए। लेकिन उन्हें प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठने से पहले अपनी पत्नी जशोदाबेन से माफी मांगनी चाहिए।

जैनमुनि ने शनिवार को करहल रोड पर स्थित जैन उपवन मंदिर में अपने प्रवचन में कहा कि मोदी चाहे गोधरा कांड के लिए देशवासियों से माफी न मांगें, जैनियों पर बेतुकी टिप्पणी के लिए भी माफी न मांगें, लेकिन उन्हें अपनी पत्‍‌नी का साथ न निभाने के लिए सार्वजनिक रूप से क्षमा मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मुझे पता है कि माफी मांगना मोदी की फितरत में नहीं है। बात यहां फितरत की नहीं, जरूरत की है। जिस मोदी के प्रधानमंत्री बनने की सूचना से पाकिस्तान, अमेरिका जैसे मुल्क डरते हैं, वह व्यक्ति अपनी पत्नी से माफी मांगने से क्यों डरता है। आश्चर्य की बात है कि मोदी यदि किसी सभा में दस मिनट देरी से पहुंचते हैं, तो देर से आने के लिए वे क्षमा मांगते हैं, लेकिन उन्होंने अपनी पत्‍‌नी की आधी जिंदगी बर्बाद कर दी, फिर भी क्षमा मांगने को तैयार नहीं हैं। इसलिए ईश्वर भी उन्हें माफ नहीं करेगा।

पढ़ें : बोले मोदी-मां-बेटे जितना भी जोर लगा लें, ये सरकार तो गई