नई दिल्ली [शैलेंद्र सिंह]। देशद्रोह मामले पर जेएनयू में मचे हंगामे के बीच नया वीडियो सामने आया है। यूट्यूब पर उपलब्ध इस वीडियो क्लिप में जेएनयू के स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज की प्रोफेसर निवेदिता मेनन यह कहती नजर आ रही हैं कि कश्मीर पर भारत का गैरकानूनी कब्जा है और समूचा विश्व ऐसा मानता है। खास बात यह है कि कैंपस में यह बात प्रो. मेनन रोजाना प्रशासनिक खंड के बाहर लगने वाली राष्ट्रवाद की पाठशाला में कह रही हैं।

पढ़ें: जेएनयू के शोर में भूले जवानों की शहादत

जेएनयू प्रशासनिक खंड के बाहर हुई इस क्लास में सेंटर फॉर कंपरेटिव पॉलिटिक्स एंड पॉलिटिकल थॉट की प्रोफेसर निवेदिता मेनन कह रही हैं कि दुनिया में माना जाता है कि भारत ने गैरकानूनी तौर पर कश्मीर पर कब्जा किया है। अक्सर पत्रिकाओं में ऐसे नक्शे प्रकाशित होते हैं, जिसमें दिखाया जाता है कि कश्मीर भारत का अंग नहीं है।

देश में इस तरह की पत्रिकाओं को कभी जला दिया जाता है या फिर सेंसर कर दिया जाता है, जिससे वह हमारे पास पहुंच ही नहीं पाती हैं। जब दुनियाभर में कश्मीर पर भारत के गैरकानूनी कब्जे की बात हो रही है तो हमें सोचना चाहिए कि कश्मीर की आजादी नारा गलत नहीं है। यह नारा एकदम जायज है। हमें समझना होगा कि दुनिया में यह बात क्यों हो रही है और भारत को विश्व में किस तरह से देखा जा रहा है।

पढ़ें: कैसे शुरू हुआ JNU में फसाद का सलिसिला - जरूर पढ़ें, पूरी रिपोर्ट

Edited By: kishor joshi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट