नई दिल्ली [वीके शुक्ला]। नई दिल्ली नगर पालिका परिषद [एनडीएमसी] का बिजली-पानी के बिल के रूप में 74 ऐसे दिग्गजों पर एक करोड़ सात लाख 41 हजार 926 करोड़ का बकाया चल रहा है जो अब इस दुनिया में नहीं हैं। इनमें चौधरी चरण सिंह, बाबू जगजीवन राम, देवीलाल और भजन लाल समेत अधिकतर देश की राजनीति के बड़े नाम हैं। इनके वारिसों से एनडीएमसी अभी तक बकाया राशि नहीं वसूल सकी है।

ज्ञात हो कि नई दिल्ली इलाके में सांसदों की कोठियों में बिजली व पानी की आपूर्ति एनडीएमसी करती है। हर कोठी में बिजली व पानी के कई कनेक्शन हैं। इसमें से 74 ऐसे लोग थे जिन्होंने बिजली व पानी का बिल संसद सदस्य रहते हुए जमा नहीं किया था। बाद में वे चुनाव हार गए या फिर टिकट नहीं मिला और वे राष्ट्रीय राजनीति से कट गए। उनके लिए दिल्ली दूर हो गई, मगर उनके खाते में एनडीएमसी का बकाया आज भी चल रहा है।

राजनीति के कुछ बड़े नाम भी एनडीएमसी के बकायादारों में शामिल हैं जो जीवन के अंतिम समय तक चर्चा में रहे और दिल्ली से उनका नाता रहा। लेकिन किसी कारण से वे बिजली व पानी का बिल जमा नहीं कर सके। सूत्रों का कहना है कि इस राशि को कैसे वसूला जाए या किससे लिया जाए, इस पर केंद्र सरकार को फैसला लेना है। एनडीएमसी की ओर से पूर्व और वर्तमान केंद्र सरकार को बकाया राशि की जानकारी उपलब्ध कराई गई है।

बकाएदार, जो अब दुनिया में नहीं

रेदुरमल्ली जनार्दन रेड्डी-624937 रुपये

श्यामा चरण शुक्ला-82693 रुपये

सीताराम केसरी-26411 रुपये

सिकंदर बख्त-7114 रुपये

आबा गनी खान चौधरी-4221974 रुपये

भजन लाल-28581 रुपये

चौधरी देवीलाल-11166 रुपये

चौधरी चरण सिंह-247958 रुपये

दिग्विजय सिंह [बिहार]-14389 रुपये

एचके एल भगत-132759 रुपये

इंद्रजीत गुप्ता-5955 रुपये

बाबू जगजीवन राम-71406 रुपये

जितेंद्र प्रसाद-65503 रुपये

कल्पनाथ राय-1747991 रुपये

काशीराम-5788 रुपये

फूलन देवी-57693 रुपये

राजेश पायलट-746510 रुपये

सुनंदा मामले की सीबीआइ जांच पर विचार: राजनाथ

मोदी के दौरे की जमीन तैयार करने नेपाल जाएंगी सुषमा