चेन्नई। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) वर्ष 2016 के अंत तक अमेरिका के नौ उपग्रहों को प्रक्षेपित करेगा। इसमें नैनो और माइक्रो सेटेलाइट भी शामिल होंगे। इसरो हाल में ही ब्रिटेन के पांच सेटेलाइटों को सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में भेज चुका है।

अंतरिक्ष एजेंसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इसरो की वाणिज्यिक शाखा एंट्रिक्स कॉरपोरेशन ने इस बाबत अमेरिका के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किया है। कम भार वाले कुछ सेटेलाइटों को इसी साल प्रक्षेपित करने की संभावना है। आमतौर पर नैनो सेटेलाइट का वजन एक से दस किलो, माइक्रो सेटेलाइट का वजन 10 से सौ किलो तक होता है। उन्होंने कहा, 'पहले सेटेलाइट को सितंबर में प्रक्षेपित करने की योजना है। इसे पीएसएलवी से छोड़ा जाएगा।

इसके साथ नैनो या माइक्रो सेटेलाइट भी प्रक्षेपित किए जा सकते हैं।' करार के मुताबिक सभी नौ सेटेलाइटों को 2016 के अंत तक अंतरिक्ष में स्थापित किया जाना है। इसरो फिलहाल संचार उपग्रह जीसैट-6 को 27 अगस्त को प्रक्षेपित करने की तैयारियों में जुटा है।

पढ़ेंः इसरो एक साथ पांच विदेशी उपग्रह भेजेगा अंतरिक्ष में

Posted By: Sudhir Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस