नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने टीवी चैनलों को आतंकियों के खिलाफ चल रहे अभियान का लाइव प्रसारण नहीं करने की सलाह दी है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने इस बाबत एक एडवाइजरी भी जारी की है। गृह मंत्रालय पहले ही संबंधित नियमों में संशोधन की वकालत कर चुका है।

कुछ चैनलों द्वारा जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में 20 मार्च को आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ का सजीव प्रसारण करने के बाद केंद्र सरकार ने यह एडवाइजरी जारी की है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने लाइव टेलीकास्ट से पड़ने वाले विपरीत प्रभावों से बचने के लिए चैनलों को आतंकियों के पीछे लगे सुरक्षाबलों का लोकेशन, उनकी क्षमता, गतिविधि और रणनीति आदि का ब्योरा नहीं देने को कहा है।

एडवाइजरी में कहा गया है, 'राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में आतंक रोधी अभियान का लाइव कवरेज नहीं किया जाना चाहिए। इन मामलों में मीडिया कवरेज अधिकारियों द्वारा समय-समय पर इस बाबत सूचना देने तक सीमित किया जाना चाहिए।' सूचना एवं प्रसारण सचिव बिमल जुल्का ने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए हम प्रसारकों का सहयोग चाहते हैं।

टीकाकरण को लेकर मीडिया अभियान

नई दिल्ली : टीकाकरण को लेकर आमलोगों के बीच जागरुकता लाने के लिए केंद्र सोमवार से व्यापक मीडिया अभियान शुरू करेगा। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से चलाए जाने वाले इस अभियान में विज्ञापन के अलावा कार्यशाला और अन्य कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त सचिव राकेश कुमार ने बताया कि 23 मार्च से प्रारंभ हो रहा यह अभियान 15 दिनों तक चलेगा। महत्वाकांक्षी स्वास्थ्य कार्यक्रम 'मिशन इंद्रधनुष' भी अप्रैल में लागू होगा।

पढ़ें : क्षेत्रीय पत्रकारों की राय से चलेगी मोदी सरकार !

पढ़ें : एक क्लिक पर उपलब्ध होगा सरकार का पूरा संसार

Posted By: Sanjay Bhardwaj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस