मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

बेंगलुरू, एएनआइ। कैफे कॉफी डे (CCD) के संस्थापक वी जी सिद्धार्थ के परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। वीजी सिद्धार्थ की मौत के एक महीने के भीतर ही उनके पिता का निधन हो गया है। सिद्धार्थ के पिता गंगैया हेगड़े लंबे समय से बिमार थे। उन्होंने मैसूरु के एक अस्पताल में अंतिम सांस ली।

गौरतलब है कि कैफे कॉफी डे (CCD) के संस्थापक वी जी सिद्धार्थ 29 जुलाई को लापता हो गए थे। लापता होने के लगभग 36 घंटे के बाद वी जी सिद्धार्थ का शव  नेत्रावती नदी के ब्रिज के पास मिला था।

यह भी पढ़ें- इंडिया के 'कॉफी किंग' वीजी सिद्धार्थ, जिन्होंने भारतीयों को शान से कॉफी पीना सिखाया

बता दें कि सिद्धार्थ 29 जुलाई को सक्लेश्पुर जा रहे थे, लेकिन अचानक उन्होंने अपने ड्राइवर से मंगलुरु चलने को कहा। दक्षिण कन्नड़ जिले के कोटेपुरा इलाके में नेत्रवती नदी पर बने पुल के पास वह कार से उतर गए और उन्होंने ड्राइवर से कहा कि वह टहलने जा रहे हैं। जब वह दो घंटे तक वापस नहीं आए तो ड्राइवर ने पुलिस से सम्पर्क कर उनके लापता होने की शिकायत दर्ज कराई।

देश की मशहूर कैफे चेन सीसीडी के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ के बाद उनका एक खत भी सामने आया था। जिसमें सिद्धार्थ ने अपनी परेशानियों के बारे में बताया था। इस पत्र में उन्होंने कंपनी को हो रहे भारी नुकसान और कर्ज का भी जिक्र किया था।

प्रताड़ित करने का आरोप
सिद्धार्थ ने अपने पत्र में आरोप लगाया है कि आयकर विभाग का पूर्व डीजी उन्हें प्रताड़ित कर रहा है। उन्होंने लिखा कि दो मौकों पर हमारे शेयर अचैट कर हमारी माइंड ट्री डील को ब्लॉक किया गया। हमने रिवाइज रिटर्न भर दिए थे, लेकिन हमारे कॉफी डे के शेयर पजेस कर लिए गए। यह बेहद ही गलत था इससे हमारे पास कैश की भारी किल्लत हो गई।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप