नई दिल्‍ली (ऑनलाइन डेस्‍क)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज 70वां जन्‍मदिन है। पीएम मोदी ने पूरी दुनिया में जो अपनी निडर और बिंदास छवि बनाई है उसकी आज दुनिया तारीफ करती है। बात चाहे कोविड-19 से चुनौतीपूर्ण तरीके से लड़ने की हो या सीमा पर दुश्‍मन को जवाब देने की, हर मौके पर उन्‍होंने खुद को सफल साबित किया है। यही वजह है कि देश के सवा सौ करोड़ लोगों के वो चहेते पीएम हैं। उनसे पहले कभी ऐसा नहीं हुआ था कि किसी पीएम ने कुछ कहा हो और उसको करोड़ों लोगों ने पूरी ईमानदारी से किया हो।

कोविड-19 की शुरुआत में पीएम मोदी ने जब एक दिन का कर्फ्यू लगाने और लोगों से थाली बजाने की अपील की थी तब आसमान थाली, तालियों और घंटियों की आवाज से गूंज उठा था। इसके बाद उनके कहने पर लोगों ने कोरोना योद्धाओं के लिए अपने घरों में दीप जलाए थे। इसी वर्ष मार्च में जब उन्‍होंने सोशल मीडिया से संन्‍यास लेने की बात कही थी तब लोगों ने उनसे ऐसा न करने की अपील की थी। इसके बाद उन्‍होंने कहा कि वो सोशल मीडिया से फिलहाल संन्यास नहीं ले रहे हैं। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि वह इस अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Womens Day) पर अपना ट्विटर अकाउंट उन महिलाओं को समर्पित करेंगे, जिनसे वो प्रेरित हुए हैं और ऐसा उन्‍होंने किया भी।

23 अगस्‍त 2020 को उन्‍होंने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्‍ट किया था जिसमें वो मोर के साथ दिखाई दे रहे थे। इसके बाद उनका पशु प्रेम भी दुनिया ने देखा था। इससे पहले नवंबर 2016 में एक शेर की फोटो क्लिक करने की उनकी फोटो भी काफी वायरल हुई थी। आपको बता दें कि 2014, 2015 और 2017 में उन्हें टाइम पत्रिका ने अपनी सौ सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किया था। फोर्ब्स पत्रिका ने 2015, 2016 और 2018 में उन्हें विश्व में 9वें सबसे शक्तिशाली व्यक्ति के रूप में स्थान दिया था। वर्ष 2015 में वह ट्विटर और फेसबक पर दूसरे सबसे अधिक फॉलो किए जाने वाले राजनेता रहे। सर्वाधिक देशों से सर्वोच्च सम्मान पाने वाले वह देश के इकलौते प्रधानमंत्री हैं।

अपनी अलग कार्यशैली के दम पर देश को नई दिशा देने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को गुजरात के वडनगर में हुआ था। अपने व्‍यस्‍त कार्यक्रम के बावजूद भी पीएम मोदी अपने जन्‍मदिन पर अपनी मां से आशीर्वाद लेना नहीं भूलते हैं। कई बार उनकी मां को पांव छूते हुए फोटो मीडिया में आई भी है। उन्‍होंने पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी को पिता तुल्‍य बताया था। प्रणब दा के चरण स्‍पर्श करते हुए की फोटो भी दुनिया ने देखी थी। उनके इस जन्‍मदिन पर आज हम आपको उनके अलग-अलग रूप के बारे में बताएंगे।

पीएम मोदी ने सर्जिकल स्‍ट्राइक और फिर बालाकोट एयरस्‍ट्राइक के जरिए पाकिस्‍तान को उसकी ही भाषा में करारा जवाब दिया। इसके बाद सभी ने कहा ‘मोदी है तो मुमकिन है’। इसके अलावा उन्‍होंने रेडियो से 'मन की बात' की शुरुआत की। 'मन की बात' में हर बार उन्‍होंने देश के विभिन्‍न भागों में रह रहे उन लोगों का जिक्र किया, जिन्‍हें कोई पहचान नहीं मिल सकी थी। इससे न सिर्फ उनका हौसला बढ़ा ,बल्कि यह दूसरों के लिए भी प्रेरणा का स्रोत बना।

जुलाई 2019 में पीएम मोदी ने एक फोटो को ट्वीट करते हुए लिखा था ‘खास दोस्‍त के साथ’। शुरुआत में इसको लेकर मीडिया में यही खलबली मची रही कि आखिर यह खास दोस्‍त कौन है। मीडिया की बेचैनी इस बात को लेकर थी कि जिस खास दोस्‍त की बात उन्‍होंने की थी वह एक छोटा बच्‍चा था जो उनकी गोद में अठखेलियां कर रहा था। बाद में इसका खुलासा भी उन्‍होंने ट्वीट के जरिए ही किया। दरअसल, यह बच्‍चा भाजपा सांसद सत्‍यनारायण जटिया की पोती थी, जिसको वह पीएम मोदी से मिलाने लाए थे। पीएम मोदी की इस छवि ने काफी सुर्खियां बटोरी और लोगों ने कहा ‘भई वाह’, ऐसा भी होता है।

अपने पहले कार्यकाल 2014 के दौरान जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जापान गए तो वहां पर जो उन्‍होंने किया वो वहां मौजूद सभी लोगों के लिए हैरानी वाला था। टोक्‍यो में जापान टेक्‍नोलॉजी एंड कल्‍चर अकादमी में टाटा कंसल्टेंसी सर्विस की शुरुआत करते हुए उन्‍होंने वहां रखे जापान के पारंपरिक वाद्ययंत्र ताइको ड्रम बजाना शुरू कर दिया। वहां मौजूद ताइको ड्रम मास्‍टर के लिए भी यह अनूठा अनुभव था।

पूरे भारत में स्‍वच्‍छता मिशन चलाने वाले मोदी ने जनमानस में यह अलख जगाई कि वह अपने आस-पास की जगह को साफ रखें और कहीं भी कूड़ा न फैलाएं। बतौर पीएम उन्‍होंने ही पहली बार इसको लेकर आंदोलन करने की बात कही। इससे पहले कभी ऐसा नहीं हुआ था। कभी किसी पीएम ने न तो इस तरह की बात कही थी और न ही सड़क पर उतरकर कूड़ा साफ करने के लिए झाड़ू उठाई थी। पहले कार्यकाल से ही उन्‍होंने इस मुहिम को शुरू किया और एक नहीं कई बार और कई जगहों पर वह सफाई करते हुए दिखाई दिए। इस मुहिम के जरिए उन्‍होंने विरोधियों को भी खूब साधा।

योग यूं तो पूरी दुनिया काफी पहले से करती आई थी, लेकिन पीएम मोदी ने इसको एक अंतरराष्‍ट्रीय पहचान दिलाई। यह भी उनकी मुहिम का ही हिस्‍सा था। ऐसा करते हुए वह हमेशा आगे रहे। वह आम लोगों के बीच बेखौफ योग करते हुए नजर आए। उनकी बदौलत आज योग को एक नई पहचान मिली है।

मोदी को पतंग उड़ाने के अलावा डांस का कितना शौक है इसका तो हमें नहीं पता है, लेकिन नगालैंड में जब उन्‍होंने वहां के लोगों के साथ उनकी पारंपरिक वेशभूषा में डांस किया तो पहली बार ऐसा ही लगा कि शायद उन्‍हें इसका भी शौक हो। डांस करते हुए उनके चेहरे पर जो मुस्‍कुराहट थी वह अब से पहले किसी पीएम के चेहरे पर नहीं देखी गई। दिसंबर 2014 में सामने आई यह तस्‍वीर हॉर्नबिल फेस्टिवल की है।

डिस्कवरी चैनल के एडवेंचर शो ‘मैन वर्सेज वाइल्ड’ को भारत समेत 180 देशों में प्रसारित किया गया। देश में इस शो को देखने के लिए लोगों में उत्सुकता दिखी। पूरे शो के दौरान लोग टीवी के सामने डटे रहे। इस दौरान पीएम मोदी ने बेयर ग्रिल्स के साथ स्‍‍‍‍‍‍क्रीन शेयर की थी। इस प्रोग्राम में मोदी की बिल्‍कुल अलग छवि लोगों ने देखी।

ये भी पढें:- 

इतने माह बाद भी नियंत्रण से बाहर है कोविड-19, वैक्‍सीन को लेकर भी लोगों में भ्रम की स्थिति- यूएन

यह भी देखें: 70 साल के हुए पीएम मोदी, जानें उनसे जुड़ी कुछ खास बातें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021