नई दिल्‍ली, एएनआइ। IPS प्रोबशनरी ऑफिसर के लिए आयोजित प्रोग्राम में सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) अधिकारियों के लिए सर्कुलर जारी किया गया। इस सर्कुलर में उन्‍हें कुछ ड्यूटी दी गई जिसपर विवाद शुरू हो गया। इसे लेकर सोशल मीडिया पर इसे लेकर विरोध और नाराजगी जताई गई है। 

सर्कुलर के तहत प्रोग्राम में आइपीएस प्रोबेशनर को  CRPF डायरेक्‍टर जनरल आरआर भटनागर से बात करनी थी। नाम न बताने की शर्त पर  CRPF अधिकारी ने बताया क‍ि सर्कुलर से 'रुढि़वादी मानसिकता'  की झलक आ रही है। ऑफिसरों ने दावा किया क‍ि असिस्‍टेंट कमांडेंट रैंक के ऑफिसर को कार्यक्रम में सैनिटेशन का प्रबंध, खाने का इंतजाम  देखने को कहा गया। इन्‍हें कैंटीन को सहयोग देते हुए खाली कटोरियों को हमेशा फूड आइटम से भरे रखना, पानी की बोतलों व टॉफी आदि का इंतजाम देखना होगा। इस सर्कुलर को लेकर ट्वटिर पर कई प्रतिक्रियाएं आ रहीं हैं। इनमें कहा गया है क‍ि CRPF अधिकारियों के लिए यह आपत्तिजनक है, क्‍योकि इन्‍हें इनके रैंक से नीचे का काम दिया गया है जिसे हटाया जाना चाहिए। 

CRPF अधिकारी ने कहा क‍ि डायरेक्‍टर-जनरल को इस मामले से अवगत करा दिया गया है। इसके लिए उन्‍होंने इंस्‍पेक्‍टर जनरल के साथ मीटिंग की। डायरेक्‍ट जनरल द्वारा मंजूर किए गए सर्कुलर में लिखा गया, ' असिस्‍टेंट कमांडेंट को तैयारी का प्रबंध देखना होगा, उन्‍हें वरीयता के अनुसार नेमप्‍लेट का प्रबंध करना होगा, स्‍क्रीन डिस्‍प्‍ले, पीए सिस्‍टम, पावर बैकअप, स्‍वच्‍छता, आइटी कंपोनेंट  आदी  की देखरेख संभालनी होगी। 

 AC (Camp-1) और  AC (Camp-2) अधिकारियों को मेन्‍यु के अनुसार खाने की तैयारी, फूड काउंटर समेत खाने से संबंधित तमाम इंतजाम देखने होंगे। कमांडेंट रैंक से नीचे के अफसरों को प्रोबशनरी आइपीएस ऑफिसर के वहां पहुंचने पर स्‍वागत करने  व उन्‍हें कांफ्रेंस रूम तक ले जाने की ड्यूटी दी गई। 

यह भी पढ़ें: रिश्तेदारों की जमीन हड़प नीति से परेशान CRPF जवान ने दी पान सिंह तोमर बनने की चेतावनी, वायरल हुआ Video

यह भी पढ़ें: सीआरपीएफ के जवानों ने चलाया स्वच्छता अभियान

 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस