जेएनएन, नई दिल्ली। कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन को देखते हुए केंद्र सरकार ने इंटरनेशनल पैसेंजर्स के लिए नई गाइडलाइंस जारी की हैं। ये नियम एक दिसंबर से लागू होंगे। इसके मुताबिक, किसी भी इंटरनेशनल डेस्टिनेशन से भारत आने वाले यात्रियों से उनकी पिछले 14 दिन की ट्रैवल हिस्ट्री का रिकॉर्ड मांगा जाएगा यानी वे इस दौरान किस-किस देश में गए, इसकी जानकारी देनी होगी। कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से जुड़ी हर खबर के लिए हमारे साथ जुड़े रहिए...

डब्ल्यूएचओ ने ओमीक्रोन से जुड़े खतरे को 'काफी ज्‍यादा' बताया

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने कोविड वेरिएंट ओमीक्रोन से जुड़े खतरे को 'काफी ज्‍यादा' बताया है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि यह कितना संक्रामक और खतरनाक स्‍ट्रेन है, इसे लेकर अनिश्चितता बनी हुई है।

ओमिक्रोन से मुकाबला के लिए टीके की तैयारी

एस्ट्राजेनेका, मॉडर्ना, नोवावैक्स और फाइजर सहित तमाम दवा कंपनियों ने कहा कि ओमिक्रोन के सामने आने के बाद वे अपने टीके को उसका मुकाबला करने के लिए परिवर्तित करने का प्रयास कर रहे हैं और ये टीके 100 दिन में तैयार होने की उम्मीद है।

कर्नाटक सरकार ने भी जारी किया दिशा-निर्देश

कर्नाटक सरकार ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए नए दिशानिर्देशों को जारी किया है। स्वास्थ्य विभाग ने घोषणा कि है कि जोखिम वाले 12 देशों से आने वाले यात्रियों के आगमन पर आरटी-पीसीआर परीक्षण किया जाएगा, इसके साथ ही अंतरराष्ट्रीय यात्रियों का सात दिनों के लिए होम आइसोलेशन अनिवार्य किया जा रहा है।

दिल्ली के डिप्टी सीएम ने कहा- ओमिक्रोन को लेकर हम सतर्क है

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि नए वेरिएंट(ओमिक्रोन) को लेकर चर्चा हुई है, भारत सरकार के हमारे विशेषज्ञों ने अभी तक इससे संबंधित जो भी जानकारी मिली है, उससे डीडीएमए को अवगत कराया। अगर किसी कारण से मामलों में बढ़ोतरी होती है तो हम उसके लिए तैयार हैं। कोई कमी नहीं होगी।

पीएम मोदी ने की लोगों से अपील, नए COVID-19 वेरिएंट के मद्देनजर रहें सतर्क

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को लोगों से नए कोरोनावायरस नए वेरियंट ओमिक्रोन के खिलाफ सतर्क रहने का आग्रह किया। शीतकालीन सत्र की शुरुआत से पहले मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए, प्रधान मंत्री ने कहा कि हमने महामारी के चुनौतीपूर्ण समय के दौरान कोविड के टीकों की 100 करोड़ से अधिक खुराक दी है। अब हम 150 करोड़ खुराक की ओर बढ़ रहे हैं। ऐसे में कोरोनावायरस के नए वेरिएंट से हमें और अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता देशवासियों का अच्छा स्वास्थ्य है।

नए कोविड वेरिएंट ओमिक्रोन की पहली तस्‍वीर आई सामने

समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक कोविड-19 के नए वेरिएंट 'ओमीक्रोन' की पहली तस्‍वीर सामने आई है। इसे इटली के रिसर्चर्स ने जारी की है। तस्‍वीर इस बात की पुष्टि करती है क‍ि नया स्‍ट्रेन मूल कोरोना वायरस का बेहद परिवर्तित रूप है। 'डेल्‍टा' वेरिएंट के मुकाबले 'ओमीक्रोन' में काफी ज्‍यादा म्‍यूटेशंस नजर आ रहे हैं। हालांकि दुनियाभर में सनसनी फैला चुका यह वेरिएंट कितना ज्‍यादा संक्रामक और घातक बीमारी देता है, अभी इसका पता नहीं चल सका है। बेबी जीसस पीडियाट्रिक हॉस्पिटल (Bambino Gesù Children's Hospital) ने यह फोटो जारी की है। इसमें बायीं तरफ डेल्‍टा वेरिएंट के स्‍पाइक प्रोटीन को दिखाया गया है और दायीं ओर ओमीक्रोन को। रिसर्चर्स के अनुसार, ओमीक्रोन के ज्‍यादातर म्‍यूटेशंस उसी इलाके में हैं जो इंसानी कोशिकाओं के संपर्क में आता है।

जापान ने विदेशियों के प्रवेश पर लगाया प्रतिबंध

ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस के नए प्रकार के मद्देनजर जापान की सरकार ने एहतियाती कदम उठाते हुए सभी विदेशी नागरिकों के प्रवेश पर अस्थायी रूप से प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। प्रतिबंध उन विदेशियों पर लागू होगा जो जापान के रहने वाले नहीं हैं। कोरोना वायरस के नए रूप के बारे में कहा जा रहा है कि यह और अधिक संक्रामक है।

दिल्ली सरकार ने बुलाई आपातकालीन बैठक

कोरोना के नए ओमीक्रान के संभावित खतरे और प्रभाव के मद्देनजर दिल्ली की केजरीवाल सरकार पूरी तरह से अलर्ट पर है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस मुद्दे पर एक आपात बैठक बुलाई है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक में कोरोना के नए स्ट्रेन से निपटने के लिए कुछ गाइडलाइन भी जारी की जा सकती है। इसके अलावा, इसको लेकर विशेषज्ञों से सुझाव मांगे गए हैं। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

फ्रांस में 8 लोगों में ओमिक्रोन संक्रमण की आशंका

फ्रांस में कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के 8 संदिग्ध मामले मिले हैं। फ्रांसीसी स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार कुछ यात्री पिछले 14 दिनों में अफ्रीका की ट्रिप से लौटे हैं, उन्हीं में से 8 लोगों के ओमिक्रोन संक्रमण की आशंका है। इन सभी मरीजों में मिले कोरोना वायरस की स्क्रीनिंग में अल्फा, बीटा, गामा और डेल्टा वेरिएंट्स के म्यूटेशंस नहीं मिले हैं, अब सीक्वेंसिंग के जरिए आगे की जानकारी जुटाई जाएगी। फ्रांस ने सात अफ्रीकी देशों से फ्लाइट्स पहले ही बैन की हुई है।

भारत में पिछले 24 घंटों में 8,309 नए कोविड मामले

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार भारत में पिछले 24 घंटों में 8,309 नए कोविड मामले, 236 मौतें और 9,905 रिकवरी दर्ज़ की गई। सक्रिय मामलों का आंकड़ा 1,03,859 (पिछले 544 दिनों में सबसे कम) पर है। आज सुबह 8 बजे तक देशभर में कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 1,22,41,68,929 है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

उत्तराखंड में बाहर से आने वालों के लिए आरटीपीसीआर टेस्ट जरूरी

उत्तराखंड के डीजी-स्वास्थ्य डॉ. तृप्ति भगुना ने बताया कि सभी सीएमओ को राज्य के बाहर से आने वाले सभी यात्रियों के लिए सभी राज्य सीमा पर आरटी-पीसीआर COVID19 परीक्षण करने के निर्देश दिए गए हैं। सभी जिलों ने सीएमओ को निर्देश दिया गया है कि यदि राज्य के बाहर से आने वाले किसी भी यात्री में कोविड के लक्षण दिखाई देते हैं, तो उसका परीक्षण किया जाना चाहिए। कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर 14 दिनों के लिए क्वारेंटाइन में रखा जाए।

दक्षिण अफ्रीका से महाराष्ट्र लौटा एक व्यक्ति मिला कोरोना पाजिटिव

दक्षिण अफ्रीका से महाराष्ट्र लौटा एक शख्स कोरोना संक्रमित पाया गया है। कल्याण-डोंबिवली नगर निगम के एक अधिकारी ने बताया कि दक्षिण अफ्रीका से महाराष्ट्र के ठाणे के डोंबिवली लौटे एक व्यक्ति का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव पाया गया है। हालांकि अधिकारी का कहना है कि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि मरीज में कोरोना वायरस का ओमिक्रॉन वैरिएंट ही है। मरीज को फिलहाल आइसोलेशन सेंटर में भर्ती कराया गया है।

Koo App

Omicron Alert: The Centre asks states, UTs to enforce intensive containment & active surveillance measures in the wake of the new variant. Union Health Ministry revises guidelines for international arrivals in India to be effective from Dec 1.

View attached media content

- Prasar Bharati News Services (@pbns_india) 29 Nov 2021

तेजी से फैल रहा ओमिक्रोन, कई और देशों में मिले मामले

समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक संभावित रूप से बेहद संक्रामक बताए जा रहे कोरोना वायरस के ओमिक्रोन वैरिएंट के मामले कई और देशों में पाए गए हैं। सबसे ज्यादा नीदरलैंड में ओमिक्रोन के 13 मामलों की पुष्टि हुई है। इसके अलावा जर्मनी, इटली, बेल्जियम, इजरायल, हांगकांग में भी कोरोना के इस नए वैरिएंट के मामले पाए गए हैं। बताया जा रहा है कि ओमिक्रोन में डेल्टा वैरिएंट के मुकाबले दोगुना तेजी से म्युटेशन हो रहा है।

दक्षिणी अफ्रीकी देशों के खिलाफ यात्रा प्रतिबंध

ओमिक्रोन के बढ़ते दायरे के बीच दक्षिणी अफ्रीकी देशों के खिलाफ यात्रा प्रतिबंध लगाने वाले देशों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। यात्रा संबंधी पाबंदियां लगाने वाले नए देशों में न्यूजीलैंड, थाइलैंड, इंडोनेशिया, सिंगापुर और मालदीव शामिल हैं। इससे पहले श्रीलंका, सऊदी अरब, ब्राजील, कनाडा, इजरायल, जापान, दक्षिण कोरिया, यूरोपीय संघ, ईरान, आस्ट्रेलिया, ब्रिटेन और अमेरिका प्रतिबंध लगा चुके हैं। मोरक्को ने दो हफ्ते के लिए सभी देशों से आने वाली उड़ानों पर पाबंदी लगा दी है।

10 अफ्रीकी देश यात्रा प्रतिबंधों के दायरे में

दुनिया भर में दक्षिणी अफ्रीकी जिन देशों के खिलाफ यात्रा प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं उनकी संख्या भी बढ़ती जा रही है। पहले सात देशों को लेकर ये पाबंदियां लगाई थी, जिनमें चार देश और जुड़ गए हैं। अब कुल 10 अफ्रीकी देश यात्रा प्रतिबंधों के दायरे में आ गए हैं। इनमें अंगोला, मालावी, मोजांबिक, जांबिया, बोत्सवाना, इस्वातिनी (पुराना नाम स्वाजीलैंड़), लेसेथो, नामीबिया, दक्षिण अफ्रीका और जिम्बाब्वे शामिल हैं।

नौ देशों में ओमिक्रोन के मामले पाए जाने की पुष्टि

अब तक कम से कम नौ देशों में ओमिक्रोन के मामले पाए जाने की पुष्टि हो चुकी है। इस सूची में शामिल होने वाले नए देशों में आस्ट्रेलिया और डेनमार्क हैं, जहां ओमिक्रोन के दो-दो मामले मिले हैं। अब तक इस नए वैरिएंट के मामले ब्रिटेन, इटली, नीदरलैंड, बेल्जियम, बोत्सवाना, इजरायल और हांगकांग में पाए जा चुके हैं। दक्षिण अफ्रीका में महामारी की चौथी लहर आ गई है और मामलों में वृद्धि का कारण नए वैरिएंट को बताया जा रहा है।

Koo App

कोरोना के नए स्ट्रेन के सामने आने से पूरी दुनिया में हलचल मच गई है। ”ओमिक्रॉन” से संक्रमित हुए कुछ लोग एसिम्टोमेटिक हैं यानी उनमें कोई लक्षण दिखाई नहीं दिए। भारत भी सतर्क हो गया है और मुंबई में दक्षिण अफ्रीका से आने वाले यात्रियों को क्वारंटाइन में रहना और टेस्ट कराना होगा। आप भी सतर्क रहिये इस नए वैरिएंट से । मास्क ज़रूर पहने और भीड़ में न जाएँ 🙏 #IndiaFightsCovid #covid #covid19 #followprotocols

- Archana Puran Singh (@archanapuransingh) 29 Nov 2021

ओमिक्रोन के ज्यादा संक्रामक होने के अभी साक्ष्य नहीं : डब्ल्यूएचओ

समाचार एजेंसी रायटर के मुताबिक विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा कि अभी इसके कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं जिससे कहा जा सके कि कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रोन दूसरे वैरिएंट की तुलना में ज्यादा संक्रामक है या यह बीमारी को अधिक गंभीर बनाता है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि प्रारंभिक आंकड़े बता रहे हैं कि दक्षिण अफ्रीका में अस्पताल में भर्ती होने वाले कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। परंतु, इसकी वजह यह भी हो सकती है कि बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं। हालांकि, संगठन ने एक बयान जारी कर यह दोहराया भी है कि इस वैरिएंट से लोगों के दोबारा संक्रमित होने का खतरा अधिक हो सकता है।

12 देशों के यात्रियों को सात दिन रहना होगा होम क्वारंटाइन

कोरोना वायरस से नए वैरिएंट ओमिक्रोन के खतरे को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका समेत अत्यधिक जोखिम वाले 12 देशों से आने वाले प्रत्येक यात्री के लिए सात दिन के होम क्वारंटाइन को अनिवार्य बना दिया है। इन देशों से आने वाले यात्रियों की हवाई अड्डे या प्रवेश स्थल पर आरटी-पीसीआर जांच कराई जाएगी। जांच रिपोर्ट आने तक उन्हें वहीं इंतजार करना होगा। निगेटिव रिपोर्ट आने पर सात दिन होम क्वारंटाइन रहना होगा। पाजिटिव आने वाले यात्रियों के नमूने को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए इंसाकाग (प्रयोगशालाओं के समूह) भेजा जाएगा।

विदेश से आने वाले यात्रियों के लिए नए दिशानिर्देश जारी

दुनिया में तेजी से फैल रहे ओमिक्रोन को भारत में आने से रोकने के लिए केंद्र सरकार ने विदेश से आने वाले यात्रियों के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। ये दिशानिर्देश एक दिसंबर से लागू होंगे और अगले आदेश तक प्रभावी रहेंगे। साथ ही नभ, जल और थल किसी भी सीमा से देश में प्रवेश करने वाले लोगों पर लागू होंगे। दिशानिर्देशों के मुताबिक सभी देश के लोगों को भारत आने से पहले आनलाइन एयर सुविधा पोर्टल पर अपनी पिछली 14 दिन यात्रा संबंधी विस्तृत जानकारी देनी भरनी होगी।

गलत पाए जाने पर संबंधित व्यक्ति के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही

72 घंटे के भीतर की निगेटिव कोरोना आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट अपलोड करनी होगी। रिपोर्ट की सत्यता की पुष्टि करते हुए स्व-घोषित फार्म भरना होगा, जिसके गलत पाए जाने पर संबंधित व्यक्ति के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही शुरू की जाएगी। अत्यधिक जोखिम वाले देश- ब्रिटेन समेत यूरोपीय संघ के देश- दक्षिण अफ्रीका - ब्राजील- बांग्लादेश- बोत्सवाना- चीन- मारीशस- न्यूजीलैंड- जिम्बाब्वे- सिंगापुर, - हांगकांग- इजरायल।

अन्य देशों के लिए दिशानिर्देश

 हवाईअड्डे पर रैंडम तरीके से पांच प्रतिशत यात्रियों की जांच की जाएगी- निगेटिव जांच रिपोर्ट आने पर 14 दिन तक अपने स्वास्थ्य पर खुद नजर रखनी होगी-पाजिटिव रिपोर्ट आने पर प्रोटोकाल के मुताबिक आइसोलेशन में रखकर इलाज- संक्रमित व्यक्ति के नमूने को जीनोमिक सीक्वेंसिंग के लिए भेजना होगा।

Edited By: Sanjeev Tiwari