चेन्नई। बेंगलूर-गुवाहाटी एक्सप्रेस में गुरुवार को हुए दो बम धमाकों के मामले में सीबीसीआइडी ने एक संदिग्ध का सीसीटीवी फुटेज जारी किया है। इसे जांच में पहला सुराग माना जा रहा है। वैसे इस वारदात के पीछे आतंकियों के कर्नाटक स्लीपर मॉड्यूल का हाथ होने की आशंका जताई जा रही है। बता दें कि तमिलनाडु पुलिस की सीबीसीआइडी मामले की जांच कर रही है।

सीबीसीआइडी के आइजीपी महेश कुमार अग्रवाल ने एक प्रेस कांफ्रेंस में वीडियो फुटेज जारी करते हुए कहा कि इसमें एक व्यक्ति की गतिविधियां संदिग्ध लग रही हैं। हालांकि अभी इसमें जांच की जरूरत है। फुटेज में एक अधेड़ उम्र का व्यक्ति एस4 और एस5 की बगल वाली एस3 बोगी से जल्दबाजी में उतरते दिखाई दे रहा है। एस4 और एस5 बोगियों में ही धमाका हुआ था। अग्रवाल ने कहा कि संदिग्ध व्यक्ति चेन्नई स्टेशन पर नहीं चढ़ा था। अभी तक की जांच से ऐसा लगता है कि धमाके टाइमर के जरिये किए गए। आशंका है कि बम बेंगलूर में ही रख दिए गए थे, जहां से यह ट्रेन अपना सफर शुरू करती है। गुवाहाटी जाने वाली ट्रेन बुधवार रात 11.35 बजे बेंगलूर सिटी से चली भी और करीब 90 मिनट की देरी से चल रही थी।

इस बीच महानगर में शुक्रवार को जनजीवन पटरी पर लौट आया। महानगर पुलिस हालांकि कई जगह पर बम रखे होने की अफवाह से हलकान रही। शहर के एक शॉपिंग मॉल, एक शिक्षण संस्थान और उपनगरीय रेलवे स्टेशन पर बम होने की धमकी से अफरातफरी का माहौल रहा। बाद में यह फर्जी कॉल निकली। दोहरे धमाकों में टीसीएस में कार्यरत स्वाति की मौत हो गई थी। 14 अन्य यात्री घायल हो गए थे, जिनकी हालत पहले से बेहतर बताई गई है।

एनएसजी टीम चेन्नई पहुंची

लेफ्टिनेंट कर्नल बालकृष्ण के नेतृत्व में गुरुवार देर रात चेन्नई पहुंची एनएसजी की छह सदस्यीय टीम ने शुक्रवार को धमाका स्थल और क्षतिग्रस्त रेल डिब्बों का मुआयना किया। रेलवे पुलिस ने भी अपने स्तर पर जांच शुरू की है। रेलवे के दक्षिणी सर्किल के संरक्षा आयुक्त एसके मित्तल ने अस्पताल में इलाज करा रहे घायल यात्रियों के बयान दर्ज किए।

चेन्नई स्टेशन पर ट्रेन में धमाके, 1 की मौत, दो संदिग्ध हिरासत में

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस