नई दिल्ली, (एएनआई)। पाकिस्तानी आतंकवादी बहादुर अली ने एनआईए की पूछताछ में कई और अहम खुलासे किए हैं। बहादुर अली ने बताया कि ट्रेनिंग के दौरान उसने दो बार मोस्ट वांटेड हाफिज सईद से मुलाकात की थी।

एनआईए सूत्रों के मुताबिक, बहादुर पाक अधिकृत कश्मीर में कंट्रोल रूम से लगातार संपर्क में था। कंट्रोल रूम का हैंडलर वालिद उसे लगातार निर्देश देता था। बहादुर ने एक और अहम खुलासा करते हुए बताया कि उसे कश्मीर में निर्दोष लोगों की हत्या करने के लिए भेजा गया था।

गौरतलब है कि पाकिस्तानी आतंकी को कश्मीर में एक एनकाउंटर के दौरान मंगलवार को जिंदा पकड़ा गया था। गिरफ्तार आतंकी की पहचान बहादुर अली के तौर पर हुई है जो लाहौर का रहने वाला है। कुपवाड़ा जिले के नौगाम सेक्टर के करीब हुए गोलीबारी में चार अन्य लश्कर आतंकियों को मारा गया था।

कश्मीर में जिंदा पकड़े गए अातंकी ने कबूला, मैंने पाकिस्तान में ली है ट्रेनिंग

एनकाउंटर में जिंदा पकड़ा गया था बहादुर अली

बहादुर अली, उर्फ सैफुल्लाह 22 वर्षीय प्रशिक्षित लश्कर आतंकी है। सुरक्षा बलों ने उसके पास से 23,000 रुपये के अलावा तीन एके-47 राइफल और दो पिस्तौल बरामद किए हैं।

दो महीने में यह दूसरी बार पाकिस्तानी आतंकी को जीवित पकड़ा गया है। राज्य गृह मंत्री किरण रिजिजू ने कहा, ‘आतंकी को जीवित पकड़ना बड़ी उपलब्धि है। पाकिस्तान की सच्चाई सामने आएगी।‘

एनकाउंटर करने वाले अधिकारियों ने कहा, इससे केवल यह साबित होता है कि घाटी में अस्थिरता का फायदा किस तरह पाकिस्तान ले रहा है।

लश्कर सरगना ने बुरहान वानी के जनाजे का नेतृत्व किया था : हाफिज सईद

Posted By: Manish Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस