नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली विश्वविद्यालय (Delhi University- DU) की तरफ से विदेशी छात्रों की संख्या में 20 फीसद की बढ़ोतरी हुई है। पिछले वित्तीय वर्ष में 6400 विदेशी छात्रों ने विभिन्न पाठ्यक्रमों में यहां दाखिला लिया था। वहीं इस वर्ष 8 हजार से ज्यादा विदेशी छात्रों ने दाखिला लिया है। यह बातें डीयू के फॉरेन स्टूडेंट्स रजिस्ट्री (Foreign Students Registry) द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय छात्र फेयर में बताई गईं।

फेयर में कई देशों के राजदूत भी हुए शामिल

डीयू में मंगलवार को एफएसआर (FSR) की तरफ से विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस स्थित वाइस रीगल लॉज (Vice Regal Lodge) के कंवेंशन हॉल में फेयर का आयोजन किया गया था। इसमें केंद्रीय विदेश मामलों के राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन (V. Murlidharan) बतौर मुख्य अतिथि व डीयू के कुलपति प्रो. योगेश त्यागी (Professor Yogesh Tyagi) उपस्थित थे। इसमें कुछ देशों के राजदूत भी आए थे। इस अवसर पर वी. मुरलीधरन ने कहा कि डीयू की तरफ से अंतरराष्ट्रीय छात्रों के लिए कई प्रयास किए जा रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विश्वविद्यालय की तरफ से अकादमिक साझेदारी करना बहुत ही अच्छा कदम है। उन्होंने इन छात्रों के लिए अगले अकादमिक सत्र के लिए दाखिला पोर्टल को भी लॉन्च किया।

विदेशी विश्वविद्यालयों के साथ करार से सुधरेगी रैंकिंग

वहीं डीयू के कुलपति प्रो. योगेश त्यागी ने कहा कि दुनियाभर के छात्रों को दाखिला देने और विदेशों के विश्वविद्यालयों के साथ अकादमिक करार से डीयू की रैंकिंग में भी सुधार होगा। डीयू विदेशी छात्रों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। वहीं एफएसआर के डीन प्रो. श्याम रथ ने बताया कि पिछले वर्ष की तुलना में विश्वविद्यालय के दाखिला पोर्टल और विदेश मंत्रालय के अधीन सांस्कृतिक संबंधों के लिए भारतीय परिषद के जरिये विदेशी छात्रों के आवेदन आए हैं, जो विश्वविद्यालय की लोकप्रियता को दर्शाता है।

यह भी पढ़ें- JEE Advanced 2020 Website: दिल्ली आइआइटी ने लांच की परीक्षा की वेबसाइट, 17 मई को होगी परीक्षा

Posted By: Neel Rajput

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप