मुंबई, बिजनेस डेस्क। Stock Market Closing: वैश्विक बाजारों में मजबूती के रुख को देखते हुए इक्विटी बेंचमार्क बीएसई सेंसेक्स गुरुवार को 62,272.68 के सर्वकालिक उच्च स्तर पर बंद हुआ। लगातार तीसरे दिन तेजी जारी रखते हुए 30 शेयरों वाला बीएसई बेंचमार्क 762.10 अंक या 1.24 प्रतिशत की तेजी के साथ 62,272.68 पर बंद हुआ। यह अब तक का इसका सबसे हाई क्लोजर है।

दिन के दौरान सेंसक्स 901.75 अंक या 1.46 प्रतिशत उछलकर अपने उच्चतम स्तर 62,412.33 पर पहुंच गया। एनएसई निफ्टी 216.85 अंक या 1.19 प्रतिशत बढ़कर 18,484.10 पर बंद हुआ। दिन के दौरान, यह अपने 52 सप्ताह के उच्च स्तर 18,529.70 पर पहुंच गया, जो 262.45 अंक या 1.43 प्रतिशत अधिक था।

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वीके विजयकुमार ने कहा कि ट्रिगर्स ने सेंसेक्स की हाई रैली में मदद की। मार्केट बढ़ती इक्विटी, घटते बॉन्ड यील्ड और गिरते डॉलर के साथ अनुकूल हो गया। भारत में मैक्रो डेवलपमेंट क्रेडिट ग्रोथ और कैपेक्स में लगातार वृद्धि के कारण आर्थिक सुधारों को बल मिला है। कच्चे तेल में तेज गिरावट भी एक बड़ा सकारात्मक पहलू है।

टॉप लूजर्स और गेनर्स

सेंसेक्स पैक से, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, इंफोसिस, विप्रो, पावर ग्रिड, टेक महिंद्रा, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक और महिंद्रा एंड महिंद्रा प्रमुख गेनर्स में थे। बजाज फिनसर्व, टाटा स्टील, बजाज फाइनेंस और कोटक महिंद्रा बैंक पिछड़ गए।

दुनिया के बाजारों का हाल

एशिया में सियोल, टोक्यो और हांगकांग के बाजार हरे रंग में समाप्त हुए, जबकि शंघाई निचले स्तर पर बंद हुआ। यूरोप में इक्विटी एक्सचेंज दोपहर के कारोबार में हरे निशान में कारोबार कर रहे थे। वॉल स्ट्रीट बुधवार को बढ़त के साथ बंद हुआ था। अंतरराष्ट्रीय तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 0.46 फीसदी की गिरावट के साथ 85.02 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था। एक्सचेंज के आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने बुधवार को 789.86 करोड़ रुपये के शेयर उतारे।

रुपये में 30 पैसे की बढ़त

मुंबई, बिजनेस डेस्क। विदेशी बाजार में कमजोर ग्रीनबैक और घरेलू शेयर बाजारों में तेजी के कारण गुरुवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 30 पैसे की तेजी के साथ 81.63 (अनंतिम) पर बंद हुआ। इंटरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में रुपया 81.72 पर खुला और इसने 81.60 के इंट्रा-डे हाई और ग्रीनबैक के मुकाबले 81.77 के निचले स्तर को छुआ। रुपया अंतत: 81.63 पर बंद हुआ, जो पिछले बंद से 30 पैसे की वृद्धि है।

फेड द्वारा बुधवार को जारी बैठक के मिनटों में कम आक्रामक रुख अपनाने के बाद यूरो और पाउंड अधिक कारोबार कर रहे हैं। डॉलर के लिए अस्थिरता कम रह सकती है क्योंकि अमेरिकी बाजार थैंक्स गिविंग डे के लिए बंद होने वाले हैं। इस बीच, डॉलर इंडेक्स, जो छह मुद्राओं के मुकाबले ग्रीनबैक की ताकत का अनुमान लगाता है, 0.19 प्रतिशत फिसलकर 105.87 पर आ गया।

ये भी पढ़ें-

आसान भाषा में समझें क्या होते हैं सेंसेक्स और निफ्टी, इनके बीच क्या है अंतर

शेयर मार्केट में क्या होती हैं Large, Mid और Small Cap कम्पनियां

 

Edited By: Siddharth Priyadarshi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट