मुंबई, राज्य ब्यूरो। महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले ने शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे को यह कहते हुए चेताया है कि यदि उन्होंने दूसरे दलों पर टीका टिप्पणी करना बंद नहीं किया, तो उनके साथ बचे शिवसेना नेता भी उनका साथ छोड़ जाएंगे। इसी वर्ष जून माह में शिवसेना को बड़ी टूट का सामना करना पड़ा है।

शिवसेना के 40 विधायकों ने अपना अलग गुट बनाकर उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में चल रही महाविकास आघाड़ी सरकार को गिराकर भाजपा के साथ नई सरकार बना ली थी। उसके बाद से ही उद्धव ठाकरे एवं उनके पुत्र आदित्य ठाकरे वर्तमान मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे एवं उनके साथ गए 39 विधायकों एवं 12 सांसदों को गद्दार कहते घूम रहे हैं।

महाराष्ट्र प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले का बयान

उद्धव ठाकरे अपनी पार्टी में हुई इस बड़ी टूट के लिए भाजपा को भी जिम्मेदार मानते हैं और उस पर भी टिप्पणियां करते रहते हैं। भाजपा के चुनाव चिह्न 'कमल' के कारण वे भाजपा को कमलाबाई कहकर पुकारते हैं।

उद्धव ठाकरे की इन टिप्पणियों का जवाब देते हुए महाराष्ट्र प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले ने कहा है कि 18 घंटे काम करनेवाले मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे एवं उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की सरकार में लोगों का भरोसा बढ़ रहा है। 2024 तक कई और पार्टियों के अच्छे कार्यकर्ता भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

देवेंद्र फडणवीस पर की गई टिप्पणियों का भी दिया जवाब

यदि उद्धव ठाकरे अपनी टीका-टिप्पणियां बंद नहीं करेंगे तो उनके साथ बचे शिवसैनिक भी उनका साथ छोड़ जाएंगे। तब वह सिर्फ ‘हम दो – हमारे दो’ ही बचेंगे। कोई और उनके साथ नहीं होगा। इसके अलावा बावनकुले ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले द्वारा देवेंद्र फडणवीस पर की गई टिप्पणियों का भी जवाब दिया।

फडणवीस को छह जिलों का प्रभारी मंत्री बनाए जाने पर पटोले ने उन्हें स्पाइडर मैन कहकर उनका मजाक उड़ाया था। इस पर बावनकुले ने कहा कि जो व्यक्ति लोगों के लिए 18-18 घंटे काम कर सकता हो, उसे छह नहीं, आठ जिलों का भी प्रभारी मंत्री बनाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- Congress President Election: शशि थरूर ने खड़गे की इस बात पर जताई सहमति, G-23 के अस्तित्व को नकारा

यह भी पढ़ें- President Gujarat Visit: राष्ट्रपति मुर्मू ने साबरमती आश्रम का किया दौरा, महात्मा गांधी को दी श्रद्धांजलि

Edited By: Ashisha Singh Rajput

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट