अजमेर, 3 दिसम्बर। सूफी संत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह शरीफ में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की पत्नी लता शिंदे ने शनिवार को हाजिरी दी। उन्होंने अपने परिवार के साथ मखमली चादर व अकीदत के फूल पेश किए । उन्हें दरगाह शरीफ के खादिम सैयद वली मोहम्मद नियाजी ने जियारत कराई व दरगाह शरीफ का तबर्रुक दिया ।

मुनव्वर चिश्ती ने उन्हें ओढ़नी ओढ़ाकर  किया सम्मान

ख्वाजा की दरगाह में जियारत करने के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की पत्नी लता शिंदे खादिमों की संस्था अंजुमन कमेटी में पहुँची वहाँ मौजूद अंजुमन कमेटी के सदर सैयद गुलाम किबरिया व अंजुमन कमेटी के सदस्य मुनव्वर चिश्ती ने उन्हें ओढ़नी ओढ़ाकर स्वागत सम्मान किया व अन्य लोगों की दस्तारबंधी की। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को अजमेर ख्वाजा साहब की दरगाह शरीफ में आने की दावत दी । लता शिंदे ने कहा कि वे जल्द ही अजमेर आएंगे ।

दरगाह में ममता बैनर्जी की यात्रा को लेकर प्रशासन ने व्यवस्थाओं का लिया जायजा

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी की सूफ़ी संत हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती की दरगाह शरीफ में जियारत को लेकर पश्चिम बंगाल के प्रशासन की टीम ने शनिवार को दरगाह पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

अजमेर आने के बाद टीम हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती की दरगाह में पहुँची । ख़्वाजा की दरगाह में जियारत को लेकर मुख्यमंत्री की यात्रा का निरक्षण किया । इस मौके पर अज़मेर एडीएम सिटी भावना गर्ग व पोटोकॉल अधिकारियों की पूरी टीम मौजूद थी। दरगाह का दौरा करने के बाद 2 नम्बर गेट पर दरगाह कमेटी के ऑफिस में पश्चिम बंगाल के अधिकारियों के साथ जिला प्रशासन की टीम ने बातचीत की । पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 6 दिसम्बर को अजमेर आ रही हैं।

यह भी पढ़ें: छत्रपति शिवाजी महाराज के अपमान पर चुप रहने वाले भी बराबर के दोषी – उदयन राजे भोसले

Edited By: Piyush Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट