Move to Jagran APP

मनोज जरांगे का दावा, बीड लोकसभा सीट पर भाजपा को वोट न देने पर मराठों से की गई मारपीट

मराठा आरक्षण कार्यकर्ता मनोज जरांगे (Manoj Jarange ) ने रविवार को महाराष्ट्र के गृह मंत्री देवेंद्र फडणवीस से कुछ लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया। दरअसल जरांगे ने दावा किया है कि लोकसभा चुनाव में बीड में भाजपा उम्मीदवार को वोट नहीं देने पर मराठाओं पर हमला हुआ था। उन्होंने गृह मंत्री और बीड के पुलिस अधीक्षक से ऐसी हिंसा के खिलाफ कार्रवाई करने की अपील की है।

By Agency Edited By: Nidhi Avinash Published: Sun, 09 Jun 2024 03:16 PM (IST)Updated: Sun, 09 Jun 2024 03:16 PM (IST)
बीड लोकसभा सीट पर भाजपा को वोट न देने पर मराठों पर हमला (Image: ANI)

पीटीआई, जालना। मराठा आरक्षण कार्यकर्ता मनोज जरांगे ने रविवार को दावा किया है कि लोकसभा चुनाव में बीड में भाजपा उम्मीदवार को वोट नहीं देने पर मराठाओं पर हमला हुआ। जरांगे ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री देवेंद्र फडणवीस से कुछ लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। 

दरअसल, जरांगे अंतरवाली सारथी गांव में अपने अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे हुए है। आज उनके अनशन का दूसरा दिन है और इसी दौरान उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए दावा किया कि बीड जिले के कुछ गांवों में मराठों पर भाजपा की पंकजा मुंडे को वोट न देने के लिए हमला किया जा रहा है।

हिंसा के खिलाफ कार्रवाई करने की अपील

जरांगे ने गृह मंत्री और बीड के पुलिस अधीक्षक से ऐसी हिंसा के खिलाफ कार्रवाई करने की अपील की और मराठा युवाओं से शांति और सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने का आग्रह किया। कार्यकर्ता ने कहा कि मराठा हितों का विरोध करने वाले नेताओं को आगामी विधानसभा चुनावों में परिणाम भुगतने होंगे।

जारंगे ने शनिवार को अनिश्चितकालीन अनशन शुरू किया, जिसमें मसौदा अधिसूचना के क्रियान्वयन की मांग की गई और कुनबी को मराठा के रूप में पहचानने के लिए कानून बनाने की मांग की गई है। दरअसल, जारंगे मांग कर रहे हैं कि सभी मराठों को कुनबी प्रमाण पत्र जारी किए जाएं, जिससे वे कोटा लाभ के लिए पात्र बन सकें।

यह भी पढ़ें: VIDEO: मुंबई एयरपोर्ट के एक ही रनवे पर आ गए दो विमान, Air India और इंडिगो में होने वाली थी टक्कर; बाल-बाल बचे सैंकड़ों यात्री

यह भी पढ़ें: Maharashtra: 'मित्र दलों के साथ समन्वय की कमी के कारण हुआ चुनाव में नुकसान', फडणवीस बोले- फिर से करेंगे मैदान फतह


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.