Move to Jagran APP

Maharashtra: 'मित्र दलों के साथ समन्वय की कमी के कारण हुआ चुनाव में नुकसान', फडणवीस बोले- फिर से करेंगे मैदान फतह

महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव में करारा झटका खा चुकी भारतीय जनता पार्टी के नेता एवं राज्य के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने माना है कि चुनाव के दौरान भाजपा और उसके साथी दलों के बीच समन्वय की कमी रही। उन्होंने यह भरोसा भी जताया कि ये कमी दूर करके वह फिर से मैदान फतह करेंगे। चुनाव के दौरान कहीं-कहीं समन्वय का अभाव दिखाई दिया है।

By Jagran News Edited By: Jeet Kumar Sun, 09 Jun 2024 06:00 AM (IST)
Maharashtra: 'मित्र दलों के साथ समन्वय की कमी के कारण हुआ चुनाव में नुकसान', फडणवीस बोले- फिर से करेंगे मैदान फतह
फडणवीस बोले- मित्र दलों के साथ समन्वय की कमी के कारण हुआ चुनाव में नुकसान

राज्य ब्यूरो, मुंबई। महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव में करारा झटका खा चुकी भारतीय जनता पार्टी के नेता एवं राज्य के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने माना है कि चुनाव के दौरान भाजपा और उसके साथी दलों के बीच समन्वय की कमी रही। उन्होंने यह भरोसा भी जताया कि ये कमी दूर करके वह फिर से मैदान फतह करेंगे।

चुनाव परिणाम आने के बाद देवेंद्र फडणवीस शनिवार को भाजपा विधायकों को संबोधित कर रहे थे। बैठक में बोलते हुए उन्होंने माना कि चुनाव के दौरान कहीं-कहीं समन्वय का अभाव दिखाई दिया है। उसे चिह्नित किया गाय है। लेकिन उसके बारे में सार्वजनिक रूप से बोलने की जरूरत नहीं है। हमने अपने मित्र दलों के नेताओं को इसके बारे में बता दिया है कि किन-किन विधायकों के क्षेत्र में समन्वय की कमी रही है।

फडणवीस ने कहा कि कभी-कभी पराजय होती है

फडणवीस ने कहा कि कभी-कभी पराजय होती है। लेकिन पराजय का ठीकरा एक-दूसरे पर नहीं फोड़ा जाना चाहिए। फडणवीस ने कहा कि मराठवाड़ा में मराठा समाज की नाराजगी की बात प्रचारित की गई। जबकि मराठा समाज को दोनों बार आरक्षण हमारे ही कार्यकाल में दिया गया। 1980 से जो लोग मराठा आरक्षण का विरोध करते आ रहे हैं, उन्हें ही मराठा समाज ने वोट दिया। इसका अर्थ तो यही निकल रहा है। लेकिन यह भ्रम बहुत दिन चलनेवाला नहीं है।

फडणवीस ने कहा कि यह भ्रम फैलाकर विरोधी दलों को कुछ हद तक सफलता मिली है। लेकिन हमें भी 44 प्रतिशत मत मिले हैं। हम सिर्फ एक प्रतिशत मत से पीछे रह गए। सिर्फ डेढ़ प्रतिशत मत हमें और मिलें तो हम विधानसभा चुनाव जीत सकते हैं।

फडणवीस ने ठाकरे पर साधा निशाना

शिवसेना (यूबीटी) के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे पर टिप्पणी करते हुए फडणवीस ने कहा कि उन्होंने सहानुभूति की कहानी गढ़ी। इसके बावजूद उन्हें मराठी लोगों के ही मत नहीं मिले और उनकी पार्टी ठाणे से कोकण तक साफ हो गई है। इस क्षेत्र में उसे एक भी सीट नहीं मिली है।

बता दें कि कोकण और ठाणे लंबे समय से शिवसेना का गढ़ माना जाता था। फडणवीस ने भाजपा और मित्र दलों के प्रवक्ताओं को सोच-समझकर एवं एक सुर में बोलने की सलाह भी दी है।