मुंबई, एएनआइ। महाराष्ट्र में चक्रवात निसर्ग (Cyclone Nisarga) के  बुधवार दोपहर एक बजे से तीन बजे के बीच लैंडफाल करने की संभावना जतायी जा रही है। इसका प्रभाव पहले से ही दिखने लगा है। महाराष्ट्र के कई तटीय इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है। इस बीच महाराष्ट्र सरकार ने चक्रवात निसर्ग को लेकर आम लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर कुछ गाइडलाइन जारी की है। 

महाराष्ट्र सरकार द़वारा जारी गाइडलाइन

क्‍या करें    

-चक्रवात के आने से पहले अगर घर के बाहर कुछ ऐसी चीजें रखी हैं, जिन्हें तेज हवाओं में क्षति पहुंच सकती है तो उन्हें या तो अच्छे से बांध दें या फिर उन्हें घर के अंदर रख लें।

-महत्वपूर्ण कागजातों और ज्वेलरी को किसी प्लास्टिक बैग में रख लें। 

-रेडियो और टीवी पर आने वाले चक्रवात निसर्ग को लेकर अपडेट्स के बारे में जानकारी रखें। 

-अपने मोबाइल फोन, लैपटॉप और अन्य महत्वपूर्ण चीजों को चार्ज करके रखें।

- साइक्लोन के आने से पहले इमरजेंसी किट को तैयार रखें। 

- घर की खिड़कियों से उचित दूरी बनाए रखें। कुछ खिड़कियों को बंद कर दें और कुछ को खोल दें ताकि हवा अच्छे से आर पार आ जा सके।

-  घर के कोनों से दूर रहें और जितना हो सके, उतना कमरे के बीच में ही रहें। अगर परेशानी ज्यादा आती है तो फिर स्टूल या टेबल के नीचे उसे अच्छी तरह पकड़कर बैठ जाएं। 

- पीने के पानी का उचित भंडारण कर लें।

Nisarga Live Tracking 

क्या न करें 

-चक्रवात से जुड़ी अफवाहों पर बिल्कुल भी ध्यान न दें। 

-इस दौरान गाड़ी भी न चलाएं। 

-निर्माणधीन इमारतों से दूर रहें। 

-घायल लोगों को तब तक कहीं और न ले जाएं, तब तक उन्हें वहां ले जाना पूरी तरह से सुरक्षित न हो। 

-मछुआरे समुद्र के करीब न जाएं।  

Cyclone Nisarga: चक्रवात निसर्ग के कारण मुंबई से चलने वाली ट्रेनों के संचालन में बदलाव

LIVE Coronavirus Maharashtra Update महाराष्ट्र में तेजी से बढ़ रहा है कोरोना संक्रमण, 72300 लोग हुए संक्रमित

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस