ग्वालियर, जेएनएन। सोमवार को जब ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर कोहराम मच गया तो बम निरोधक दस्ता, आरपीएफ और जीआरपी की टीम अचानक प्लेटफार्म पर पहुंच गई और तलाशी शुरू कर दी। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि किसी ने पुलिस के 100 डायल नंबर पर कॉल कर रेलवे स्टेशन पर बम की सूचना दी। सूचना के बाद पुलिस समेत रेलवे की विभिन्न सुरक्षा टीमें हरकत में आ गईं। एसपी अमित सांघी ने भी कहा कि बम की जानकारी मिली थी। इसके बाद रेलवे स्टेशन पर तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है। हालांकि सूचना के बाद पुलिस, प्रशासन और रेलवे के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए।

सुबह करीब 10 बजे रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की भीड़ बढ़ती जा रही थी। फिर आरपीएफ, जीआरपी और पुलिस का बम निरोधक दस्ता रेलवे स्टेशन पहुंचा। भारी संख्या में सुरक्षाबलों को देखकर यात्री सहम गए। इसके बाद सुरक्षाबलों ने स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर एक से दो, तीन और चार से तलाशी शुरू की। हालांकि शुरुआती तलाशी में उन्हें बम या कोई संदिग्ध वस्तु नहीं मिली।

प्लेटफार्म एक खाली कराया गया

बम की सूचना मिलने के बाद स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक को सुरक्षाबलों ने खाली करा लिया। स्टेशन प्रबंधन ने प्लेट फॉर्म नंबर एक पर आने वाली सभी ट्रेनों को भी डायवर्ट कर प्लेट फॉर्म नंबर 2, 3 और वहां से आगे खड़ा कर दिया। इसके साथ ही डॉग स्क्वायड, बम डिस्पोजल स्क्वॉड समेत अन्य सुरक्षाकर्मी भी स्टेशन की तलाशी ले रहे थे।

 मॉक ड्रिल 

हालांकि जब बड़ी संख्या में सुरक्षा बल स्टेशन पहुंचे तो लोगों ने अनुमान लगाया कि यह मॉक ड्रिल भी हो सकता है। लेकिन एसएसपी अमित सांघी ने इस संबंध में स्पष्ट किया कि यह कोई मॉकड्रिल नहीं है। क्योंकि किसी ने डायल 100 नंबर पर कॉल कर पुलिस को बम की सूचना दी थी। हालांकि फोन करने वाले से भी पूछताछ की जा रही है। लेकिन इससे पहले रेलवे स्टेशन पर भी तलाशी की जा रही है।

यात्री परेशान

रेलवे स्टेशन पहुंचे सुरक्षाबलों ने भी यात्रियों के सामान की जांच शुरू कर दी। ऐसे में स्टेशन पर आए यात्रियों को परेशानी हुई। हालांकि सुरक्षाबलों के लोग यात्रियों को समझाते नजर आए।

यह भी पढ़ें -   Indore to Duabi Flight: दुबई उड़ान के समय में अगस्‍त से होगा बदलाव, पर्यटकों को घूमने के लिए मिलेंगे चार घंटे ज्‍यादा

Edited By: Babita Kashyap