Move to Jagran APP

MP Politics: कमल नाथ के गढ़ से विधायक BJP में शामिल, छिंदवाड़ा और दमोह से इन नेताओं ने दिया तगड़ा झटका

Lok Sabha Elections 2024 मप्र में लोकसभा चुनाव के ठीक पहले कांग्रेस को छि‍ंदवाड़ा और दमोह में बड़ा झटका लगा। भाजपा ने कमल नाथ के गढ़ छि‍ंदवाड़ा की अमरवाड़ा विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक कमलेश शाह का दल बदल करवा कर बड़ी सफलता प्राप्त की है। शाह ने कांग्रेस प्राथमिक सदस्यता और विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा भी दे दिया है।

By Prateek Jain Edited By: Prateek Jain Published: Sat, 30 Mar 2024 06:04 AM (IST)Updated: Sat, 30 Mar 2024 06:04 AM (IST)
MP Politics: कमल नाथ के गढ़ से विधायक BJP में शामिल, छिंदवाड़ा-दमोह से इन नेताओं ने दिया तगड़ा झटका

राज्य ब्यूरो, भोपाल। मप्र में लोकसभा चुनाव के ठीक पहले कांग्रेस को छि‍ंदवाड़ा और दमोह में बड़ा झटका लगा। भाजपा ने कमल नाथ के गढ़ छि‍ंदवाड़ा की अमरवाड़ा विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक कमलेश शाह का दल बदल करवा कर बड़ी सफलता प्राप्त की है।

शाह ने कांग्रेस प्राथमिक सदस्यता और विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा भी दे दिया है। शाह के साथ पत्नी हर्रई नगर पंचायत की पूर्व अध्यक्ष माधवी शाह व बहन जिला पंचायत सदस्य केसर नेताम ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण की।

भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश, मप्र के मुख्यमंत्री डा. मोहन यादव, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा सहित अन्य पार्टी पदाधिकारियों ने सीएम निवास में उन्हें पार्टी का अंगवस्त्र पहनाकर स्वागत किया।

विधायक ने नुकल नाथ पर बोला हमला

विधायक कमलेश शाह ने कहा कि कांग्रेस में लगातार नकुल नाथ द्वारा आदिवासियों का अपमान किया जा रहा है। कांग्रेस में रहकर क्षेत्र का विकास करना संभव नहीं रह गया है। सांसद नकुल नाथ चुने हुए जनप्रतिनिधियों, आदिवासी समाज के नेताओं और कार्यकर्ताओं का अपमान करते हैं।

उधर, कांग्रेस की दमोह जिला पंचायत अध्यक्ष रंजीता गौरव पटेल सहित दमोह एवं कटनी जिले के 150 से अधिक सरपंच, जनपद सदस्य, पूर्व सरपंच व कांग्रेस के पदाधिकारियों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। दमोह संसदीय सीट पर कांग्रेस के पैनल में रंजीता गौरव पटेल का नाम था, लेकिन कांग्रेस ने यहां से तरवर लोधी को प्रत्याशी बना दिया है।

अब छि‍ंदवाड़ा में कांग्रेस के छह विधायक

छि‍ंदवाड़ा जिले में ये कांग्रेस के लिए बड़ा झटका है, क्योंकि बीते विधानसभा चुनाव में सात विधानसभा सीटों पर कांग्रेस के विधायक जीते थे। अमरवाड़ा विधायक के पाला बदलने के बाद कांग्रेस के छह विधायक रह गए हैं।

कमलेश शाह पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ के सबसे भरोसेमंद में से एक थे, लेकिन उनके कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाना कमल नाथ के लिए बड़ा झटका है। बताया जा रहा है कि कुछ और विधायक पाला बदल सकते हैं।

कमल नाथ के करीबी रहे हैं कमलेश शाह

51 वर्षीय कमलेश शाह छि‍ंदवाड़ा के हर्रई राजघराने के ताल्लुक रखते हैं। वह अब भी आदिवासी राजाओं की विरासत को संभाले हुए हैं। शाह दस वर्ष तक जनपद पंचायत हर्रई के अध्यक्ष रहे।

कांग्रेस के ब्लाक अध्यक्ष रहे और वर्ष 2013 में पहली बार विधानसभा चुनाव में विधायक चुनकर आए। 2018 और 2023 के विधानसभा चुनाव में अमरवाड़ा विधानसभा सीट से विधायक निर्वाचित हुए। पत्नी माधवी शाह नगर पंचायत अध्यक्ष रह चुकी है।

यह भी पढ़ें - 

Bhojshala Survey: भोजशाला के गर्भगृह में सर्वे के बाद हो सकती है खोदाई; 10 से 12 फीट के खोदे गए गड्ढे


Lok Sabha Election 2024: मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने खींचा चुनाव अभियान का खाका, यहां हो सकती हैं राहुल-प्रियंका की रैलियां


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.