नई दिल्ली। केंद्रीय चुनाव आयोग ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को प्रथम दृष्टया आचार संहिता के उल्लंघन दोषी पाया है। आयोग ने राहुल को कारण बताओ नोटिस भी जारी कर दिया है। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने पिछले दिनों में हिमाचल प्रदेश में एक रैली कहा था कि अगर भाजपा सत्ता में आती है तो 22,000 लोग मारे जाएंगे।

नोटिस में आयोग ने राहुल गांधी को 12 मई तक जवाब देने को कहा है। अगर वह सोमवार सुबह 11:00 बजे तक अपना पक्ष नहीं रखते हैं तो आयोग आगे की कार्रवाई करेगा। इसमें कहा गया है, 'प्रथम दृष्टया आयोग को यह लगता है कि इस तरह का बयान देकर आपने चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन किया है।'

चुनाव आयोग ने अमेठी में सात मई को मतदान के दिन एक बूथ पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के नजदीक खड़े होने संबंधी प्रकरण की फिर से जांच कराने का फैसला किया है। आयोग ने उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी (एसीईओ) आलोक तिवारी को जांच सौंपी है। आयोग के निर्देश पर मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) उमेश सिन्हा ने तिवारी को शुक्रवार को मामले की जांच के लिए अमेठी रवाना कर दिया।

पढ़े: राहुल की सभा में हर-हर मोदी के नारे

सट्टा बाजार में भी जपने लगा नमो-नमो

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस