रांची, जेएनएन। IRCTC Indian Railways भले ही एक्सप्रेस ट्रेनों में चूहों के आतंक पर रोकथाम के लिए रांची रेल मंडल प्रतिवर्ष 24 लाख रुपये खर्च कर रहा है। फिर भी इन एक्सप्रेस ट्रेनों में सफर करने वाले यात्री चूहों के आतंक से त्रस्त हैं। शुक्रवार को इस्लामपुर-हटिया एक्सप्रेस में सफर कर रहे यात्री मदन सिंह के कई सामान कुतर दिए। वे अपनी पत्नी व दो बच्चों के साथ रांची आ रहे थे। क्षेत्रीय रेलवे उपयोगकर्ता परामर्शदात्री समिति के सदस्य प्रेम कटारूका ने इस मामले में डीआरएम नीरज अंबष्ठ से शिकायत भी की है।

हाल ही में झारखंड स्वर्णजयंती एक्सप्रेस में सफर कर रहे एक यात्री ने ट्वीट कर इस संबंध रेल मंत्रालय व रांची रेल मंडल के डीआरएम से शिकायत भी की थी। चूहों ने ट्रेन में सफर कर रहे कई यात्रियों के बैग व कपड़ों को कुतर दिया था। हालांकि इस मामले में रांची रेल मंडल के अधिकारियों ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की। कुछ दिनों पूर्व चूहों ने रांची स्टेशन पर ही एक व्यक्ति के पैर को कुतर डाला था। हटिया-हावड़ा ट्रेन में चूहों ने पति-पत्नी का पैर कुतर दिया था।

इस मामले को लेकर मैने डीआरम से बात की है। उम्मीद करता हूं कि वे यात्रियों के जान-माल की सुरक्षा के लिए आवश्यक कार्रवाई करेंगे। यह मामला गंभीर है। रेल पदाधिकारियों को तत्काल इस मामले में उचित कदम उठाना चाहिए। ताकि यात्रियों को इस परिस्थिति से न गुजरना पड़े। - प्रेम कटारूका, सचिव, झारखंड पैसेंजर एसोसिएशन

रेलवे का प्रयास है कि चूहों से यात्रियों को परेशानी न हो। मेकेनिल विभाग की ओर से एक्सप्रेस ट्रेनों में नियमित रूप से पेस्ट कंट्रोल किया जाता है। - नीरज कुमार, सीपीआरओ, रांची रेल मंडल

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस