संवाद सहयोगी, तेलो (बेरमो)। कोरोना काल में बंद झारखंड के स्कूलों को खोलने की तैयारी हो गई है। इस बाबत जल्द ही राज्य की हेमंत सोरेन सरकारी की तरफ से घोषणा की जाएगी। इस बाबत राज्य के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा है कि बच्चों के भविष्य को देखते हुए 31 जनवरी के बाद राज्य के सभी स्कूल खुलवा दिए जाएंगे। जल्द ही आपदा प्रबंधन समिति की बैठक होगी। बैठक में स्कूलों को खोलने का निर्णय लिया जाएगा। वे सोमवार को बोकारो जिले के चंद्रपुरा प्रखंड की तारानारी पंचायत में झारखंड राज्य बिजली वितरण विभाग की ओर से निर्मित विद्युत सबस्टेशन का उद्घाटन करने आए थे। इस दाैरान उन्होंने बंद स्कूलों को खोलने पर बड़ी बात कह दी। 

डीवीसी पर करेंगे देशद्रोह का केस

मंत्री जगरनाथ महतो ने कहा कि बिजली कटौती करने पर डीवीसी का कोयला-पानी बंद करेंगे। सरकार का प्रयास है कि निर्बाध विद्युत आपूर्ति हो। बिजली कटौती करने वाले अधिकारियों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कराएंगे।  झारखंड में बिजली उत्पादन होता है, फिर यहां के लोग बिजली कटौती झेलें, यह बर्दाश्त नहीं करेंगे। बोले- प्रत्येक पंचायत में एक इंग्लिश मीडियम स्कूल और प्रखंड व जिला स्तर पर माडर्न स्कूल खोले जाएंगे। चंद्रपुरा प्रखंड की नर्रा पंचायत में नेतरहाट स्कूल की तर्ज पर बालिका आवासीय उच्च विद्यालय की स्थापना की जाएगी। बोकारो व धनबाद जिला की क्षेत्रीय भाषा की सूची से भोजपुरी व मगही को हटाएंगे। यह भी कहा कि पारा शिक्षकों की 20 साल की लड़ाई को दस दिनों में हल किया, युवाओं को रोजगार दिया। 1932 के खतियान के आधार पर स्थानीय नीति व नियोजन नीति बनवाने के लिए जो भी करना पड़े, करेंगे।

यह भी पढ़ें- झारखंड में 25 रुपये सस्ता मिलेगा पेट्रोल, गणतंत्र दिवस पर मुख्यमंत्री ने लांच की सब्सिडी योजना

झारखंड का तेजी से हो रहा विकास

मंत्री ने कहा- झारखंड में अब काफी तेजी से विकास हो रहा है। चंद्रपुरा प्रखंड के जरुवा ग्राम से तेलो तक और तेलो से भेंडरा तक सड़क की मरम्मत जल्द होगी। एक माह के अंदर डुमरी विधानसभा क्षेत्र की सभी सड़कों की मरम्मत होगी। समारोह की अध्यक्षता झामुमो के चंद्रपुरा प्रखंड अध्यक्ष सुभाष महतो ने की। कार्यक्रम को बोकारो के उपविकास आयुक्त जयशंकर प्रसाद, झामुमो के जिलाध्यक्ष हीरालाल मांझी, नावाडीह प्रखंड की निवर्तमान प्रमुख पूनम देवी ने भी संबोधित किया। इस दौरान झामुमो के केंद्रीय सदस्य यदु महतो, मोहन महतो, योगेंद्र प्रसाद, बालमुकुंद महतो, जगदीश महतो, मदन मोहन प्रसाद आदि मौजूद थे।

Edited By: Mritunjay