अम्ब, जेएनएन। मां की मौत ने उस बेटी को विचिलत कर दिया जो कभी उसके साहस को लेकर दूसरों को प्रेरित करती थी। मां की मौत के चार दिन बाद वह खुद को नहीं संभाल पाई। सदमे से न उभरने पर उसने खुद को मौत के हवाले करने की कोशिश कर डाली। गनीमत यह रही कि उसकी जान बच गई। मामला अंब क्षेत्र की अंदौरा पंचायत का है। महिला ने दो मंजिला मकान से छलांग लाकर आत्महत्या करने की कोशिश की, तो किसी की समझ में नहीं आया माजरा क्या है?

हादसे के बाद गंभीर रूप से घायल महिला को परिजनों ने सिविल अस्पताल अम्ब में भर्ती किया है। इस दौरान महिला ने पुलिस को दिए प्रारंभिक बयान में आत्महत्या के प्रयास के पीछे मां की मौत का सदमा बताकर सबको चकित कर दिया। पुलिस महिला बयान के आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी है।

क्षेत्र के अप्पर अंदौरा में अपने पति व बच्चों के साथ रह रही गीदड़बाहा जिला मुक्तसर (पंजाब) की उक्त महिला की मां की 18 अक्टूबर को मौत हो गई थी। मां की अचानक मौत से वह सदमे में थी और मानसिक रूप से भी परेशान रहने लगी थी। 

सोमवार को महिला का पिता और अन्य रिश्तेदार अंदौरा में थे। जब मां के साथ बिताई गई पुरानी बातों का जिक्र हुआ तो महिला बैचेन हो गई और घर के एक कोने में बच्चों की तरह रोने लगी। पिता ने बेटी को समझाने की कोशिश की और अन्य परिजनों ने भी ढांढस बंधाया। कुछ देर तक तो वह सामान्य रही, लेकिन महिला ने आत्मघाती कदम उठाने के बारे में मन में ठान लिया था। वह परिजनों से छिपते हुए दो मंजिला मकान की छत पर चढ़ गई और छलांग लगा दी। नीचे गिरते ही वह गंभीर रूप से घायल हो गई और परिजन उसे सिविल अस्पताल अम्ब ले गए।

अब घर-घर मिलेगी ये सुविधा, कैंसर का दूर होगा प्रकोप

परिजनों ने बताया कि महिला अपनी मां से बेहद प्यार करती थी। महिला ने प्रारंभिक पूछताछ में बताया है कि वह अपनी मां की मौत को नहीं पचा पा रही है। उसे लगता है कि मां की मौत के बाद दुनिया में सब कुछ खत्म हो गया है। महिला के परिजन खुद यकीन नहीं कर पा रहे हैं कि उनकी बेटी ऐसा आत्मघाती कदम उठा सकती है। थाना प्रभारी अम्ब गौरव भारद्वाज का कहना है कि घायल महिला के बयान कलमबद्ध किए है।

चेक दिया था 9200 का बैंक ने काटे 92 हजार, जानें क्‍या है मामला

 हिमाचल की अन्य खबरें पढऩे के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप