Move to Jagran APP

Hamirpur: जेओए (आइटी) का पेपर लीक, महिला कर्मचारी ढाई लाख रिश्वत लेते गिरफ्तार

हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग में वरिष्ठ सहायक के पद पर कार्यरत महिला कर्मचारी को विजिलेंस टीम ने जूनियर आफिस असिस्टेंट (जेओए-आइटी) का पेपर लीक करने की एवज में ढाई लाख रुपये रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया है।

By Jagran NewsEdited By: Nidhi VinodiyaPublished: Sat, 24 Dec 2022 09:12 AM (IST)Updated: Sat, 24 Dec 2022 09:12 AM (IST)
Hamirpur: जेओए (आइटी) का पेपर लीक, महिला कर्मचारी ढाई लाख रिश्वत लेते गिरफ्तार
जेओए (आइटी) का पेपर लीक, महिला कर्मचारी ढाई लाख रिश्वत लेते गिरफ्तार

हमीरपुर, जागरण संवाददाता : हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग में वरिष्ठ सहायक के पद पर कार्यरत महिला कर्मचारी को विजिलेंस टीम ने जूनियर आफिस असिस्टेंट (जेओए-आइटी) का पेपर लीक करने की एवज में ढाई लाख रुपये रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया है। उसके साथ तीन अन्य लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें महिला का बेटा भी शामिल है। आयोग ने परीक्षा रद करने का निर्णय लिया है। सुजानपुर तहसील के करोट गांव की निवासी वरिष्ठ सहायक उमा आजाद हमीरपुर के वार्ड-8 हाउसिंग बोर्ड कालोनी में किराये के मकान में रहती है।

loksabha election banner

विजिलेंस टीम को शुक्रवार को मिली थी गुप्त सूचना

विजिलेंस टीम को शुक्रवार को गुप्त सूचना मिली कि महिला कर्मचारी पोस्ट कोड 965 के तहत जेओए (आइटी) का पेपर चार लाख रुपये में कुछ युवकों को बेच रही है। विजिलेंस थाना हमीरपुर में तैनात अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजिलेंस रेणु शर्मा ने टीम सहित महिला को रंगे हाथ पकड़ने के लिए जाल बिछाया। टीम ने दोपहर डेढ़ बजे वरिष्ठ सहायक महिला को ढाई लाख रुपये की रिश्वत सहित रंगे हाथ पकड़ लिया और उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। टीम ने पेपर बेचने वाले तीन अन्य आरोपितों को भी गिरफ्तार किया है। इनमें से महिला का बेटा निखी आजाद भी शामिल है। विजिलेंस की पूछताछ में एक आरोपित ने बताया है कि उसने पिछले वर्ष पेपर खरीदकर परीक्षा पास की है।

आरोपित महिला के दो बेटे भी सरकारी विभाग में कार्यरत 

विजिलेंस टीम के अनुसार एक आरोपित युवक का नाम संजीव कुमार है जबकि तीसरे युवक का नाम पता नहीं चल पाया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजिलेंस रेणु शर्मा ने मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि विजिलेंस टीम सभी तथ्यों को खंगाल रही है उसके बाद ही कुछ और कहा जा सकता है। 2019 से ब्रांच में तैनात है आरोपित महिला कर्मीयह महिला 2019 से आयोग की गोपनीयता शाखा में कार्यरत है। आरोपित महिला कर्मी के दो बेटे भी आयोग की जरिये उसके कार्यकाल में सरकारी विभागों में भर्ती हुए हैं। एक जेओए (आइटी) और दूसरा किसी अन्य पद पर कार्यरत है। उसके कई रिश्तेदार भी इसी कार्यकाल में चयनित हैं। मामले को लेकर परीक्षा नियंत्रक की भूमिका पर ही सवाल उठने लगे हैं।आयोग में भ्रष्टाचार का दूसरा मामला हमीरपुर स्थित कर्मचारी चयन आयोग में भ्रष्टाचार का यह दूसरा मामला सामने आया है।

कार्यप्रणाली कटघरे में

वर्ष 2002 में सत्ता परिवर्तन होते ही कांग्रेस के शासनकाल में भी चिटों पर भर्ती करने के आरोप में बड़ी कार्रवाई की गई थी। उस दौरान आयोग अधीनस्थ सेवाएं चयन बोर्ड के नाम से जाना जाता था। पूरे कार्यालय को ही सीज कर तत्कालीन चेयरमैन एसएम कटवाल के विरुद्ध मामला दर्ज हुआ था। कटवाल को कोर्ट से सजा भी हो चुकी है। अब सत्ता परिवर्तन होते ही फिर इस कार्रवाई ने आयोग की कार्यप्रणाली को कटघरे में खड़ा कर दिया है।ढाई लाख रुपये में हुई थी पेपर की डीलस्टेट विजिलेंस एंड एंटी करप्शन ब्यूरो के एडिशनल डीजी सतवंत अटवाल ने बताया कि धरपकड़ पूरी योजना के साथ की गई है। विजिलेंस को सूचना मिली थी कि जेओए (आइटी) का पेपर लीक हो गया है। इसे अंजाम देने वाले पेपर बेचने के लिए खरीदार तलाश कर रहे हैं। आरोपितों ने उनके सूत्र के साथ ढाई लाख रुपये में प्रश्नपत्र बेचने की डील की। ब्यूरो ने पूरा ट्रेपिंग प्लान बनाया और स्रोत को ढाई लाख रुपये लेकर प्रश्नपत्र खरीदने भेजा। इसी दौरान आरोपितों को पकड़ लिया गया।

जेओए (आइटी) पोस्ट कोड 965 का पेपर रद :

संजय ठाकुरहिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग के अध्यक्ष संजय ठाकुर ने बताया कि आयोग की वरिष्ठ सहायक महिला उमा आजाद पर पेपर को लीक करने पर विजिलेंस की कार्रवाई के कारण जेओए (आइटी) पोस्ट कोड 965 का पेपर रद कर दिया गया है। विजिलेंस विभाग ने दूरभाष पर इसकी जानकारी दी है। उसके बाद तुरंत आयोग की ओर से यह कार्रवाई अमल में लाई गई है। पोस्ट कोड 965 के तहत 316 पदों पर 25 दिसंबर को यह परीक्षा होनी थी। परीक्षा के लिए एक लाख आठ हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। मामला हल होने के बाद इस परीक्षा करवाई जाएगी।

Himachal Pradesh में भाजपा की लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू, जेपी नड्डा ने पदाधिकारियों को सौंपी जिम्मेदारी


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.