रेवाड़ी, जागरण संवाददाता। जिले को खुले में शौच से मुक्त बनाने की दिशा में पंचायतों ने अब कानूनी कार्रवाई का भी सहारा लेना शुरू कर दिया है। शनिवार को नाहड़ खंड के गांव नांगल भगवानुपर में ऐसा ही मामला देखने को मिला।

गांव में बनी प्रेरक कमेटी ने खुले में शौच के लिए जा रहे 4 लोगों को पकड़ कर पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने इन लोगों को समझाते हुए खुले में शौच जाने से होने वाले नुकसान से अवगत कराकर छोड़ दिया।

कोहरे के कहर से थम गई रेलवे की रफ्तार, 3 दिन तक रद रहेंगी 20 ट्रेनें

जिला प्रशासन के ओडीएफ अभियान के तहत प्रत्येक खंड स्तर पर प्रेरकों की टीम बनी हुई है जो कि हर गांव में पहुंचकर लोगों को खुले में शौच नहीं जाने के लिए प्रेरित करते हैं। सुबह के समय टीम के सदस्य निगरानी भी करते हैं ताकि खुले में शौच जाने वाले लोगों की सोच में बदलाव लाया जा सके।

दिल्ली: साइकिल की रफ्तार से प्रदूषण पर लगेगी रोक, हरी भरी होगी दिल्ली

Posted By: Amit Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस