जेएनएन, चंडीगढ़। नवचयनित जेबीटी शिक्षकों की ज्वाइनिंग कराने में शिक्षा विभाग के पसीने छूट रहे हैं। कहीं मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में स्टाफ की कमी के कारण मेडिकल नहीं हाेने से शिक्षकों की नियुक्ति में परेशानी हो रही है। मौलिक शिक्षा अधिकारी कार्यालयों में जमा आवेदकों की भीड़ से सारी व्यवस्था दम तोड़ रही है।

नियुक्ति प्रक्रिया धीमी, सारा दिन लग रही आवेदकों की कतारें व मारामारी की नौबत

मुख्यमंत्री कार्यालय और शिक्षा निदेशालय पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए है और हर दिन की रिपोर्ट तलब की जा रही है। प्रदेश के सभी डीईईओ ऑफिस में 28 अप्रैल से नवचयनित 7906 जेबीटी शिक्षकों को ज्वाइनिंग कराने की प्रक्रिया जोर-शोर से चल रही है। यहां तक कि सभी कर्मचारियों की छुट्टियां और साप्ताहिक अवकाश रद कर उन्हें कार्यालय में आवेदकों के दस्तावेजों की जांच और नियुक्ति पत्र देने के काम में लगाया गया है।

ज्‍वाइनिंग के लिए हिसार के जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय आए जेबीटी।

शिक्षकों को सबसे ज्यादा मुश्किल सीएमओ कार्यालय से फिटनेस प्रमाणपत्र लेने में आ रही है। स्टाफ कम होने से दिन में केवल एक सौ लोगों को ही स्वास्थ्य जांच के बाद प्रमाणपत्र दिया जा सकता है। ऐसे में यहां दिन भर फिटनेस सर्टिफिकेट के लिए मारामारी की स्थिति रहती है। सारा दिन धक्के खाने के बावजूद कई युवा मायूस होकर लौट जाते हैं और अगले दिन फिर शुरू हो जाता है लाइन में लगने का दौर।

यह भी पढ़ें: थाने में दुष्कर्म पीड़िता के यौनशोषण का प्रयास, डीजीपी को नोटिस

कुछ यही हाल डीईईओ ऑफिस का है जहां आवेदक सैकड़ों हैं तो स्टाफ गिना-चुना। इससे सारा दिन अफरा-तफरी की स्थिति रहती है। बीच-बीच में स्टाफ से आवेदकों के उलझने के कारण काम भी प्रभावित हो जाता है। लगातार छह दिन से चल रही ज्वाइनिंग प्रक्रिया के बावजूद अभी हजारों युवाओं को नियुक्ति पत्र का इंतजार है।

पानीपत में ज्‍वाइनिंग के लिए मेडिकल जांच कराने अस्‍पताल मेंं जद्दोजहद करते जेबीटी।

नवचयनित जेबीटी अध्यापक पात्र संघ के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र शर्मा ने कहा कि डीईईओ और सीएमओ कार्यालय में अतिरिक्त स्टाफ की तैनाती की जाए ताकि ज्वाइनिंग प्रक्रिया को पूरा कर शिक्षकों को स्कूल आवंटित किए जा सकें।

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने मांगी रिपोर्ट

डीईईओ ऑफिस में चल रही शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया पर शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास ने हर दिन की रिपोर्ट तलब की है। सभी डीईईओ को हिदायत दी गई है कि नवचयनित शिक्षकों की नियुक्ति में आ रही अड़चनों को दूर कर नियुक्त्‍िप्रक्रिया को यथाशीघ्र पूरा किया जाए। 

यह भी पढ़ें: दुलार न मिले तो आदमखोर बन मालिक को ही खा जाता है पालतू कुत्ता

मेवात से वापस बुलाए दूसरे जिलों के शिक्षक

सरकार ने अंतर जिला तबादला नीति के तहत मेवात में भेजे गए सभी जेबीटी शिक्षकों को वापस बुला लिया है। मौलिक शिक्षा निदेशालय ने मेवात कैडर के 887 जेबीटी शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू होने के बाद यह निर्देश दिए हैं। डीईईओ को पत्र जारी कर निर्देश दिया है कि दूसरे जिलों के सभी शिक्षकों को रिलीव कर रिपोर्ट मुख्यालय भेजी जाए।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस