चंडीगढ़, जेएनएन। हरियाणा में कोराना वायरस COVID-19 के तीन और पॉजिटिव मरीज की पुष्टि हुई है।  फरीदाबाद में एक व्यक्ति की सैंपल रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके अलावा हिसार और सिरसा में दो महिलाओं को COVID-19 से सं‍क्रमित पाया गय है। दूसरी ओर, गुरुग्राम में कोरोना संक्रमित एक और मरीज ठीक होकर घर लौट गया। हरियाणा में अब तक काेराेना वायरस COVID-19 के 24 मरीज मिल चुके हैं। इनमें से सात मरीज ठीक हो चुके हैं। अभी 17 पॉजिटिव मरीजों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है।

प्रदेश में अब तक मिले कोरोना संक्रमित 24 मरीजों में गुरुग्राम में दस, फरीदाबाद और पानीपत में चार-चार तथा अंबाला,पंचकूला, पलवल और सोनीपत में एक-एक  शामिल हैं। राहत की बात यह कि गुरुग्राम में छह और फरीदाबाद में एक मरीज स्वस्थ होकर अब घरों को लौट चुके हैं। फरीदाबाद में एक व्‍यक्ति के कोराेना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इसके अलावा हिसार में एक 54 साल की म‍हिला के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। सिरसा की महिला को भी काेविड-19 से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इनकी रिपोर्ट रोहतक पीजीआइ से आई।

लॉक डाउन तोड़ने वालों पर सख्ती, 610 लोगों पर एफआइआर और 749 गिरफ्तार

उधर, लॉकडाउन को हल्के में ले रहे लोगों पर सरकार ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। घरों से अनावश्यक बाहर निकले 610 लोगों पर एफआइआर दर्ज की गई है और 749 को गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा 3407 वाहनों के चालान और इंपाउंड किए गए हैं।

प्रदेश के मौजूदा हालात

-12,976 लोगों को रखा गया है सर्विलांस पर।

-666 लोगों के सैंपल में से 459 की रिपोर्ट आई निगेटिव।

-187 लोगों की रिपोर्ट का इंतजार।

-22 लोग कोरोना से पीड़ित मिले। अब तक सात ठीक हुए, 15 अस्पतालों में उपचाराधीन।

- 243 लोग रखे गए हैं अस्पतालों में। 645 ने निगरानी की अवधि की पूरी।

- कोरोना संक्रमित 19 लोगों के संपर्क में आए 348 लोग जिन पर विशेष निगाह।

-13,273 लोग विदेश से लौटे हैं प्रदेश में।

------

संक्रमित मरीजों का इलाज करते हुए एक डाक्टर व एक नर्स भी हुए कोरोना पीडि़त

हरियाणा में कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज करते हुए एक डाक्टर और एक नर्स भी इस बीमारी की चपेट में आ गए हैं। डाक्टर गुरुग्राम का है और नर्स पानीपत की है। दोनों का अब इलाज चल रहा है। हरियाणा काडर के तीन अधिकारी ऐसे हैं, जिनकी स्वयं या उनके परिवार की विदेश से लौटने की हिस्ट्री है, लेकिन उन्होंने खुद को क्वारंटाइन करने का निर्णय लिया है। ये अधिकारी अपने घर से पूरा काम कर रहे हैं। क्वारंटाइन होने वाले साधन संपन्न लोगों को होटल में सुविधा देने पर सरकार विचार कर रही है।

हरियाणा के गृह और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने सोमवार को बताया कि कोरोना संक्रमित छह लोग ठीक हो गए हैं। विपक्ष द्वारा सरकार की तैयारियों पर जो सवाल उठाए जा रहे हैं, यह समय उचित नहीं है। विपक्ष को चाहिए कि वह खुद आगे आकर सरकार का सहयोग करे। कांग्रेस खुद यह बताए कि उसने अभी तक कितनी मदद या राहत शिविर लगाए हैं। कमियां तो कोई भी निकाल सकता है, लेकिन सहयोग और मदद जरूरी है।

अनिल विज के अनुसार शहरी निकाय विभाग के निदेशक अमित अग्रवाल विदेश सेे लौटे हैं। चंडीगढ़ के गृह सचिव अरुण कुमार गुप्ता के परिवार से कोई विदेश से लौटा है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर ने खुद आगे होकर अपने को क्वारंटाइन किया है। इन अधिकारियों की यह अच्छी पहल है, जिसकी सराहना की जानी चाहिए। यह अधिकारी अपने घरों से नियमित रूप से काम कर रहे हैं और इनमें से कुछ की क्वारंटाइन अवधि खत्म भी होने वाली है।

यह भी पढ़ें: Punjab में कोरोना से तीसरी मौत, दो दिन में दो की जान गई, पंजाब-चंडीगढ़ में आठ नए केस

स्वास्थ्य मंत्री ने दावा किया कि राज्य के अस्पतालों में समुचित इलाज चल रहा है। कुछ लोगों ने कारंटाइन करने के लिए अपने को अच्छी जगह दिए जाने की पेशकश की थी, जिस पर विचार करते हुए हरियाणा सरकार ने गुरुग्राम के एक होटल को अंगेज करने का निर्णय लिया है। इसका किराया खुद कारंटाइन होने वाला व्यक्ति देगा। ऐसा फैसला इसलिए लिया गया, क्योंकि कुछ राज्यों में प्राइवेट चार सितारा होटल कारंटाइन के लिए लिए जाने की सूचनाएं सरकार को मिली हैं।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

यह भी पढ़ें: सरकारी कर्मचारियों को समय से मिलेगा वेतन, लाॅक डाउन में गैरहाजरी की सैलरी नहीं


यह भी पढ़ें: आटा, दाल और चावल की दर तय करने के बाद भी नहीं रुक रही कालाबाजारी

 

 

यह भी पढ़ें: पंजाब में कर्फ्यू की अवधि 14 अप्रैल तक बढ़ाई गई, सभी परीक्षाएं भी स्‍थगित

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस