चंडीगढ़, जागरण डिजिटल डेस्क। गणतंत्र दिवस से एक दिन पहले हरियाणा के किसानों को बड़ा तोहफा मिला है। बुधवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रेस कांफ्रेंस करके किसानों को बड़ी सौगात दी है। सीएम ने गन्ने के रेट बढ़ाने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रेस कांफ्रेस करके ऐलान किया कि इस साल गन्ने का रेट 372 रूपये रहेगा, जो कि पिछले वर्ष 362 था। सीएम के इस ऐलान के बाद हरियाणा के उन किसानों को राहत मिली है, जो लम्बे समय से गन्ने की रेट को बढ़ाने की मांग कर रहे थे।

हरियाणा में किसान लगातार गन्ने के रेट को बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। इसके लिए गन्ना किसान सड़कों पर प्रदर्शन भी कर रहे थे। इसी बीच मंगलवार को सूबे के मुख्यमंत्री ने गन्ने के दाम को बढ़ाने का ऐलान किया। इस ऐलान के बाद सीएम को उम्मीद है कि किसान अब अपना प्रदर्शन खत्म कर देंगे।

यह भी पढ़ें: Rewari : लियो चौक पर कार चालक ने ईआरवी को मारी टक्कर, विरोध करने पर सिपाही से की मारपीट, आरोपित मौके से फरार

सीएम खट्टर ने की किसानों से अपील

बुधवार को जहां एक ओर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने गन्ने के रेट में बढ़ोत्तरी का ऐलान किया, तो वहीं किसानों से अपील भी की। सीएम मनोहर लाल खट्टर ने किसानों से अपील की है कि वो अपना गन्ना लेकर मिलों में चले जाएं, ताकि कल से विधिवत रूप से मिल शुरू हो सकें। वहीं उन्होंने कहा कि सरसों की फसल में सर्दी की वजह से नुकसान हुआ है। इसलिए 5 तारीख से इसकी रेगुलर गिरदावरी कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि किसी भी किसान का नुकसान नहीं होने दिया जाएगा।

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि करनाल और पानीपत मिल की हमनें क्षमता बढ़ाई है, हम कोशिश करेंगे कि चीनी की रिकवरी भी बढ़ें। सीएम ने कहा कि शाहबाद और यमुनानगर में हमने एथेनाल प्लांट , नारायणगढ़ में पावर प्लांट लगाकर मिलों को अपग्रेड किया है। बता दें कि. रियाणा में गन्ने के रेट में 10 रुपये की बढ़ोत्तरी की गई है, वहीं चीनी के रेट नहीं बढ़े हैं।

यह भी पढ़ें: Fatehabad Weather: मौसम ने ली करवट, जाखल में 8 एमएम बरसात, आगामी 29 जनवरी तक मौसम रहेगा परिवर्तनशील

गन्ने के मुद्दे पर राजनीति न करें विपक्ष और किसान यूनियन

एक अन्य प्रश्न के उत्तर में मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष और कुछ किसान यूनियन इस विषय पर राजनीति कर रहे हैं, जो कि उचित नहीं है। किसान भी आज समझते हैं कि चीनी मिलें घाटे में चल रही हैं और फिर भी सरकार किसानों के हित में निर्णय ले रही है। इसलिए विपक्ष के नेता और कुछ किसान यूनियन इस विषय पर राजनीति न करें, जनता उन्हें जवाब देगी।

पटवारियों का पे-स्केल बढ़ाया

श्री मनोहर लाल ने कहा कि पिछले दिनों पटवारियों ने सरकार के समक्ष अपने वेतन में वृद्धि की मांग रखी थी। इसका सरकार ने अध्ययन किया और माना कि वेतन में वृद्धि की जानी चाहिए। इसलिए पटवारियों को पे-स्केल बढ़ाया है और अब उनका वेतन 25 हजार से 32,100 रुपये हो गया है। इस बारे में 24 जनवरी को अधिसूचना जारी की जा चुकी है।

कार्य में पारदर्शिता लाने के लिए ई-टेंडरिंग व्यवस्था

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने विकास कार्यों में पारदर्शिता लाने के लिए ई-टेंडरिंग की व्यवस्था शुरू की हैहमने छोटे टेंडर यानी 25 लाख रुपये तक के कार्य के लिए समय सीमा 4 दिन, 1 करोड़ रुपये तक की 15 दिन निर्धारित की है। सरकार ने गांवों में विकास कार्यों के लिए पंचायती राज संस्‍थाओं के खातों में 1100 करोड़ रुपये की राशि भेजी है। पंचायतों ने प्रस्ताव पारित करने शुरू कर दिये हैं।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव तथा सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक डॉ अमित अग्रवाल भी उपस्थित रहे।

गणतंत्र दिवस की दी बधाई

बुधवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने हरियाणा की जनता को गणतंत्र दिवस की अग्रिम बधाई दी। कल पूरा देश गणतंत्र दिवस मनाएगा, इसी को देखते हुए सीएम ने जनता को अग्रिम बधाई दी।

किसान कर रहे प्रदर्शन

हरियाणा में किसान लगातार गन्ने की कीमत को बढ़ाने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। हरियाणा के गन्ना किसान मांग कर रहे हैं कि ग्नने की कीमत बढ़ाकर 450 रूपये प्रति क्विंटल की जाए। इतना ही नहीं किसानों ने सरकार से एमएसपी की भी मांग की है। इसी के साथ एमएसपी गारंटी कानून, किसानों की कर्जा माफी की मांग भी किसान कर रहे हैं।

संयुक्त किसान मोर्चा ने मांग न पूरी होने पर 26 जनवरी को रैली निकालने का ऐलान किया है। संयुक्त किसान मोर्चा 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली भी निकालने जा रहा है।

किसानों के रैली और प्रदर्शन के बीच आज बुधवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने गन्ने के रेट बढ़ाने का ऐलान किया है।

Edited By: Swati Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट