अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। एकता कपूर ने हमेशा ही नए चेहरों को सामने लाया है। उनके टेलीविजन करियर में भी नए टैलेंट को वह मौके देते आई हैं। इस बार अपनी फिल्म लैला मजनूं से वह दो नए चेहरों को ब्रेक दिया है l

फिल्म के ट्रेलर लॉन्च के दौरान उन्होंने इस बारे में बात करते हुए कहा कि कई साल पहले वी शांताराम ने एक ऐसे लड़के को मौका दिया जो कि सेट पर खाना लेकर जाता था और वह एक इमिटेशन जूलरी बनाने वाला का बेटा था। बाद में वहीं लड़का जम्पपिंग जैक के रूप में बड़ा स्टार बना। और उस शख्स का नाम है जीतेन्द्र (एकता के पिता) । एकता कहती हैं कि वह बस इसी बात पर यकीन करती हैं कि अगर उस दिन उस नए लड़के को मौका नहीं मिलता तो क्या होता। इसलिए वह हमेशा नए लोगों को मौके देने में यकीन करती हैं। एकता यह बात साफ साफ कहती हैं कि मेरे लिए टैलेंट ही सबसे अहम है।

साथ ही एकता यह भी स्पष्ट कहती हैं कि मैं उन लोगों को मौके कभी भी नहीं देती हूं जो मेरे पास किसी की पैरवी करवाते हैं। फिर चाहे वो कोई पॉलिटीशियन के बेटे हों कोई अमीर बाप के बेटे हैं l मुझे कोई फ़र्क नहीं पड़ता। मैं उन लोगों से भी चिढ़ती हूं, जो बेवजह मुझे कहीं जिम में या कहीं भी तंग करते हैं। ये सही तरीका नहीं है। तरीका यही है कि ऑडिशन दीजिए। रोल में फिट बैठेंगे तो काम मिलेगा ही। एकता कपूर ने कहा कि मुझे खुशी मिलती है कि जब भी किसी नए लोग को कामयाबी मिलती है और कामयाब होने पर जब वो मेरा नाम लेते हैं। वह मेरे लिए कामयाबी है। एकता ने छोटे परदे पर अब तक कई चेहरों को उतारा है l

एकता कपूर ने पिछले दिनों कहा था कि खत्म नहीं हो सकते। आजकल एपिसोड कम हो गए हैं क्योंकि किरदारों के साथ कनेक्टिविटी खत्म हो रही है। करीब 89 प्रतिशत लोग पांच या दस साल से चल रहे सीरियल छोड़ते है नहीं। नया भले ही जल्द ही बंद कर दें लेकिन पुराने से लगाव है क्योंकि उनकी कनेक्टिविटी उस शो के साथ नहीं बल्कि किरदारों के साथ बन गई है।

यह भी पढ़ें: Exclusive: एकता कपूर ने बताई ‘गंदी बात’ की अच्छाई

Posted By: Manoj Khadilkar