अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। बाला साहेब ठाकरे पर बनी बायोपिक फिल्म ठाकरे चर्चा में है. नवाजुद्दीन सिद्दीकी फिल्म में अहम किरदार निभा रहे हैं. फिल्म एक बार फिर से विवादों में है. खबर है कि फिल्म के निर्देशक अभिजीत पानसे फिल्म की टीम से नाराज हैं.

खबर है कि फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग के दौरान वह स्क्रीनिंग में शामिल हुए. लेकिन फिर वह स्क्रीनिंग से बीच से ही निकल गये. सूत्रों के अनुसार खबर है कि उनको और उनके परिवार को बैठने के लिऐ जगह नहीं दी गयी थी और फिल्म भी उनकी स्क्रीनिंग स्थल पर पहुंचने से पहले ही शुरू हो गयी थी. इस बात से अभिजीत बहुत नाराज हैं और इस वजह से उन्होंने स्क्रीनिंग से बाहर ही जाने का निर्णय लिया. लेकिन फिल्म के निर्माता संजय राउत इस पर अलग ही बात कह रहे हैं. इस बारे में फिल्म के निर्माता संजय राउत का कहना है कि ये किसने कहा कि अभिजीत नाराज हैं. मैंने डायरेक्टर अपॉइंट किया है. मुझे पता है कि अंदर हमारे लिए भी जगह नहीं है. 500 लोग बाहर खड़े थे. मैं निर्माता हूं. मैं तय करूंगा कि क्या करना है.

वहीं फिल्म को लेकर मनसे और शिवसेना के बीच भी खींचातानी साफ नजर आ रही है. चूंकि यह फिल्म शिवसेना के एमपी और सामना के संपादक संजय राउत की है. जबकि फिल्म मनसे लीडर अभिजीत पानसे ने बनाई है. मनसे ने बुधवार को दादर के शिवसेना भवन के बाहर फिल्म का एक पोस्टर लगाया है और सिर्फ अभिजीत को फिल्म के लिए बधाई दी है. बैनर मनसे के उपध्यक्ष अमेय खोपकर ने यह बैनर जारी करवाया है. इस बारे में मनसे लीडर्स का कहना है कि निर्देशक के अलावा अभिजीत को और कोई भी क्रेडिट नहीं दिया जा रहा है. यही वजह है कि इसमें उनके अलावा और किसी को भी मेंशन नहीं किया गया है. इसलिए वह अभिजीत को उनका डयू क्रेडिट दे रहे हैं.बता दें कि फिल्म 25 जनवरी को रिलीज हो रही है. 

यह भी पढ़ें: अभिनेत्री पूजा बेदी की बेटी आलिया हैं इंटरनेट सेंसेशन, ग्लैमरस डांस के दो वीडियो वायरल

यह भी पढ़ें: OMG ! दया बेन से जुड़ी ये ख़बर आपको मायूस कर सकती है, पढ़िये

 

Edited By: Rahul soni

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट