मुंबई। फिल्म अभिनेता संजय दत्त ने मुंबई में फिल्म कलंक को लेकर हुई विशेष बातचीत में कहा कि उन्हें लगता है कि 1993 में मुंबई में हुए बम ब्लास्ट से जुड़े एक मामले में उन्हें जो जेल जाने की सजा मिली थी, वह एक कलंक था जो अब इस कलंक में काम करने के बाद मिट गया है।

इस बारे में संजय दत्त ने कहा कि फिल्म कलंक में काम करने के बाद उन्हें ऐसा लगता है कि जेल जाने का जो उन पर कलंक था। वह अब मिट गया है। गौरतलब है कि फिल्म कलंक में संजय दत्त, माधुरी दीक्षित, वरुण धवन, आलिया भट्ट, आदित्य रॉय कपूर और सोनाक्षी सिन्हा की अहम भूमिका है। इस फिल्म का निर्देशन अभिषेक वर्मन ने किया है।

यह फिल्म 17 अप्रैल को रिलीज होने वाली है। इस मौके पर माधुरी दीक्षित ने भी संजय दत्त के साथ काम करने का अनुभव साझा किया। उन्होंने कहा कि हाल ही में फिल्म टोटल धमाल में उन्होंने अनिल कपूर के भी साथ काम किया था और इस फिल्म के माध्यम से वह संजय दत्त के साथ काम कर रही है। जिसके चलते पुराने कलाकारों के साथ काम करना उनके लिए अच्छा रहा है और वह आगे भी करते रहना चाहती हैं। फिल्म कलंक में संजय दत्त बलराज चौधरी, माधुरी दीक्षित बहार बेगम, वरुण धवन जफर, आलिया भट्ट रूप, आदित्य राय कपूर देव चौधरी, सोनाक्षी सिन्हा सत्य चौधरी की भूमिका निभा रही हैं।

कलंक की कहानी 1945 के आसपास की है l इस दौरान अपने सम्मान और रुतबे के लिए जंग भी हुई और अमर प्रेम भी l ये कलंक उसी प्यार और अहंकार के जलते दीये की उजली कहानी है l फिल्म की कहानी राजा-रजवाड़ों और उनकी रियासतों की है l करण जौहर ने उसे भव्यता का जामा पहनाया है l उनकी कहानी में हमेशा प्यार होता है और वो यहां भी है लेकिन रिश्तों के कांफिक्ट्स भी हैं l

यह भी पढ़ें: Kalank Teaser: रिश्ते, इश्क और बर्बादी की ऐतिहासिक दास्तां, कमाल का है ये कलंक

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021