मुंबई। पिछले कुछ सालों में रिएलिटी शोज़ को टीवी इंडस्ट्री में अच्छी खासी जगह मिली है और इसकी वजह है कि ऑडियंस इसे बहुत पसंद करती है। सिंगिंग और डांसिंग रिएलिटी शोज़ की तो भरमार है और इसकी TRP भी आसमान छूती है। लेकिन किसी सिक्के की तरह आपको अब तक इन शोज़ का एक ही साइड दिखाई दे रहा है जिसे आप सभीं बहुत एन्जॉय भी कर रहे हैं, वहीं दूसरा साइड काफी शॉकिंग है। और इसी शॉकिंग साइड का पर्दा फाश इस बार 'दंगल गर्ल' सान्या मल्होत्रा ने किया है।

रिएलिटी शोज़ में कंटेस्टेंट को चुनने का तरीका बड़ा ही सरल और साफ़ नज़र आता है। ऑडिशन होता है जिसमें से कुछ टैलेंट्स को चुना जाता है। फिर धीरे धीरे करके उसमें से सबसे अच्छा जो है उसे मिलती है जीत! लेकिन, असल में ऐसा नहीं है। याद है जब किसी शो में कंटेस्टेंट का ऑडिशन होता है तो उनसे उनके बैकग्राउंड के बारे में पूछा जाता है और फिर स्क्रीन पर फ़्लैश होती है एक इमोशनल स्टोरी जिसे देखकर किसी का भी दिल पिघल जाता है। लेकिन आप यह जानकार चौंक जाएंगे कि ये स्टोरीज़ 'Fake' होती हैं। हाल ही में एक यूट्यूब चैनल के शो 'सन ऑफ़ अबिश' में सान्या मल्होत्रा ने कहा है कि क्यूंकि उनके पास एक इमोशनल स्टोरी नहीं थी, इसलिए वो टॉप 100 में भी आकर आगे नहीं बढ़ पाई।  

यह भी पढ़ें: इस रोमांटिक देश ने कपिल शर्मा और गिन्नी चतरथ को भेजा हनीमून मनाने का न्योता

इस शो में सान्या के साथ अभिनेता अपारशक्ति खुराना भी थे। जब इस शो के होस्ट अबिश ने सान्या से उनकी डांसिंग जर्नी के बारे में पूछा तो सान्या ने कहा कि हां वो एक ऐसी डांसर है जो एक्टिंग भी कर सकती हैं और अपनी डांसिंग स्किल को सबके सामने लाने के लिए उन्होंने एक डांस रिएलिटी शो में पार्टिसिपेट भी किया था। हालांकि, सान्या ने पहले इस डांस रिएलिटी शो का नाम नहीं लिया लेकिन, फिर उन्होंने कुछ ऐसे हिंट्स दिए कि मौजूद जनता ने ही इस शो का नाम ले लिया और यह शो था 'डांस इंडिया डांस (DID) और जब ऑडियंस ने इस शो का नाम चिल्लाना शुरू किया तो सान्या ने कहा 'हां' वो इसी शो की बात कर रही हैं।

यह भी पढ़ें: न मुंबई न US, निक की बाहों में हैं प्रियंका का घर, तस्वीर हो रही है वायरल

सान्या ने कहा, "मैं इस शो के लिए टॉप 100 में पहुंच गई थी और मुझे 'तकदीर की टोपी' भी मिल गई थी।" आप जानते ही होंगे कि इस शो में जब किसी कंटेस्टेंट को चुना जाता है तो उसे एक टोपी मिलती है जिसे 'तकदीर की टोपी' कहा जाता है और जब कोई इस शो को जीत लेता है तो उसे गोल्डन टोपी देकर विजेता घोषित किया जाता है। सान्या ने आगे कहा, "यहां जो भी पार्टिसिपेंट्स आए थे उनके पास उनकी अपनी इमोशनल स्टोरी थी। वो कह देते थे कि उनके मां-बाप ने उन्हें घर से निकाल दिया, जबकि उनके मां-बाप वहीं उनके साथ मौजूद होते थे। मेरे पास ऐसी कोई स्टोरी नहीं थी। मैंने मेरे पेरेंट्स को कॉल किया और बोला कि ये क्या है, मेरे पास कोई स्टोरी नहीं है। तो उन्होंने मुझसे कहा कि कह दो तुम्हारी मां नहीं मान रही, मां कह रही थी कि कह दो पापा नहीं मां रहे। लेकिन, मेरे पास कोई इमोशनल स्टोरी नहीं थी कि मेरे पेरेंट्स नहीं मान रहे, मैं गरीब हूं या मेरी बहन की शादी नहीं हो रही। ये सभीं स्टोरीज़ इसलिए होती हैं कि ऑडियंस कंटेस्टेंट के साथ रिलेट कर पाएं।"

रिएलिटी शोज़ रियल नहीं है, इस पर लोगों ने कई बार बहस की है मगर, सान्या ने इन ख़बरों पर पक्की मुहर लगा दी है। अब शायद इन शोज़ को देखने का आपका नज़रिया बदल जाएगा! सान्या के इस बयान को आप खुद इस वीडियो में देख सकते हैं-

Posted By: Shikha Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप