नई दिल्ली, जेएनएन। देशभर में कोरोना मालमों की तादाद तेजी से बढ़ती जा रही है। राज्य सरकारें एहितायती कदम उठा रही हैं, जिसके तहत नाइट कर्फ्यू और वीकेंड कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लगाये जा रहे हैं, वहीं कुछ जगहों पर सिनेमाघरों को बंद कर दिया गया है। खबरें आयी थीं कि रणवीर सिंह की फिल्म 83 बदले हालात के मद्देनजर ओटीटी पर जल्द आ सकती है, क्योंकि प्रतिबंधों के कारण सिनेमाघरों में फिल्म का बिजनेस प्रभावित हो रहा है, मगर मेकर्स की ओर से साफ किया गया है कि 83 ओटीटी पर आने से पहले सिनेमाघरों में आठ हफ्तों की विंडो का पालन करेगी, जो कि अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फॉलो किया जाता है।

सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि जहां सिनेमाघर खुले हैं, फिल्म वहां ठीकठाक कारोबार कर रही है। इसलिए फिल्म को ओटीटी पर पहले नहीं लाया जाएगा। फिल्म 24 दिसम्बर को सिनेमाघरों में रिलीज हुई थी और 2 हफ्तों का सफर सिनेमाघरों में पूरा कर चुकी है। फिल्म इस वक्त 100 करोड़ के पड़ाव से कुछ दूर है। 31 दिसम्बर को रिलीज होने वाली शाहिद की जरसी और 7 जनवरी को रिलीज के लिए निर्धारित आरआरआर के हटने से 83 को अपने कलेक्शंस बढ़ाने का समय मिल गया है। हालांकि, हर गुजरते दिन के साथ कोरोना मामले बढ़ने से सिनेमाघरों पर पाबंदियां बढ़ती जा रही हैं। अगर, 8 हफ्तों की विंडो के हिसाब से देखें तो 23 फरवरी को आठ हफ्ते पूरे होंगे, यानी फिल्म इसके बाद ही ओटीटी पर आ सकेगी।

जागरण डॉटकॉम से इंटरव्यू में फिल्म के निर्देशक कबीर खान ने कहा था कि इस फिल्म को सिनेमाघरों में लाने के लिए लम्बा इंतजार किया था, मगर पहले दिन झटका तब लगा, जब सुना कि नाइट शोज बंद हो रहे हैं, फिर और राज्यों में बंद हुए मुझे बहुत बुरा तो लगा। मन में ख्याल आया कि हमने आखिर कौन सी कैलकुलेशन गलत कर ली? क्या हमें इस पिक्चर को और रोकना चाहिए था? पर, फिर मैंने सोचा कि हम फिल्मों को अक्सर बॉक्स ऑफिस पैरामीटर पर देखने लगते हैं। एक बार फिल्म बाहर आ जाती है तो पब्लिक प्रॉपर्टी बन जाती है और अपने दर्शकों को ढूंढने से अच्छी फिल्म को कोई नहीं रोक सकता। 

यह भी पढ़ें: कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते कई राज्यों में सिनेमाघरों का संचालन प्रभावित, जानें- कहां खुले हैं, कहां बंद

Edited By: Manoj Vashisth