जम्मू, राज्य ब्यूरो। जम्मू-कश्मीर में पहले चरण के चुनाव में वीरवार को कड़ी सुरक्षा के बीच जम्मू-पुंछ, बारामुला सीटाें के लिए मतदान होगा। इन दोनों संसदीय सीटों के लिए मैदान में उतरे 33 उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला 33 लाख मतदाताओं के हाथ में है।

भारतीय चुनाव आयोग ने मतदान काे कामयाब बनाने के लिए पूरी तैयारी कर रखी है। दोनों संसदीय क्षेत्रों में स्थापित 4489 मतदान केंद्रों में सुरक्षाबलों की पैनी नजर रहेगी। इसके साथ भारतीय चुनाव आयोग द्वारा बनाए गए सामान्य पर्यवेक्षक, पुलिस पर्यवेक्षक व माइक्रो आब्जर्वर सुनिश्चित करेंगे कि मतदान में कोई अड़चन न आए। जम्मू-कश्मीर में संसदीय चुनाव के पहले चरण में होने वाले मतदान में यहां जम्मू-पुंछ संसदीय सीट के लिए भाजपा व कांग्रेस में सीधा मुकाबला है तो वहीं कश्मीर की बारामूला सीट के लिए त्रिकाेणीय मुकाबला है। इन दोनों सीटों के लिए मंगलवार शाम को चुनाव प्रचार थम गया था। जम्मू पुंछ संसदीय सीट के लिए 24 और बारामुला संसदीय सीट के लिए 9 उम्मीदवार मैदान में हैं।

चुनाव का समय सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक

जम्मू-पुंछ और बारामुला-कुपवाड़ा सीट पर चुनाव का समय सुबह सात बजे से लेकर शाम छह बजे तक होगा। दोनों संसदीय सीट पर मतदान करवाने के लिए पोलिंग पार्टियों ने मतदान केंदों में पहुंच कर जिम्मेदारी संभाल ली है। जम्मू जिला और तहसील स्तर पर बनाए गए स्ट्राग रूमों से ईवीएम, वीवीपैट व अन्य चुनावी मैटेरियल पोलिंग पार्टियों के हवाले कर दिया। रात भर पोलिंग पार्टियां मतदान केंद्रों में ही रहेगी और वीरवार को निर्धारित समय पर सुबह सात बजे मतदान की प्रक्रिया को शुरु करवाएगी। सेक्टर और जोनल मजिस्ट्रेट भी अलाट किए गए मतदान केंद्रों में पहुंच गए है और अपने अधीन आने वाले मतदान केंद्रों का निरीक्षण भी कर लिया है। शहर के मतदान केंद्रों में ईवीएम, वीवीपैट व अन्य चुनाव मैटेरियल पहुंचा दिया गया है। ग्रामीण इलाकों में भी मशीनें व मैटेरियल पहुंचाया गया। दूर दराज के कई इलाकों में तो पांच छह किलोमीटर पैदल चलकर पोलिंग पार्टियां पहुंची है। सुरक्षा कर्मी, पुलिस के निर्धारित कर्मी भी पहुंच गए है। पोलिंग पार्टियां और सुरक्षा कर्मियों की रात भर वहां पर रहने की डयूटी इसलिए लगाई गई है ताकि चुनावी प्रक्रिया को पूरी तरह से पारदर्शी, निष्पक्ष और स्वतंत्र बनाया जा सके। पोलिंग पार्टियों को निर्धारित मतदान केंद्रों में ही रहना पड़ेगा और साथ ही वहां पर उनके खाने पीने के प्रबंध भी किए गए है। वीरवार सुबह मतदान केंद्रों में उम्मीदवारों के पोलिंग एजेंट पहुंच जाएंगे। पार्टियों की पोलिंग एजेंटों के सामने ईवीएम और वीवीपैट की जांच करवाने के बाद भारतीय चुनाव आयाेग के नियमों के तहत पोलिंग शुरु हो जाएगी। पोलिंग पार्टियां तब तक मतदान केंद्रों को नहीं छोड़ेगी जब तक चुनावी प्रक्रिया समाप्त नहीं हो जाती।

जम्मू-पुंछ में कुल 2740 मतदान केंद्र स्थापित

जम्मू पुंछ संसदीय सीट पर कुल 2005734 सामान्य मतदाता और 41,565 सर्विस मतदाता है। सामान्य मतदाताओं में 10,40,876 पुरुष, 9,64,838 महिला मतदाता हैं। बीस ट्रांसजेंडर मतदाता हैं। जम्मू-पुंछ में कुल 2740 मतदान केंद्र स्थापित किए हुए हैं। यहां भाजपा की तरफ से जुगल किशोर और कांग्रेस के रमण भल्ला चुनाव मैदान में है। डोगरा स्वाभिमान संगठन के चौधरी लाल सिंह समेत अन्य निर्दलीय उम्मीदवार भी चुनाव लड़ रहे है। नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी ने इस सीट से अपना कोई उम्मीदवार चुनाव मैदान में नहीं उतारा है। जम्मू-पुंछ संसदीय क्षेत्र चार जिलों जम्मू, सांबा, राजौरी व पुंछ के बीस विधानसभा क्षेत्रों में फैला हुआ है। यहां कुल मतदाताओं की संख्या 18,48,553 है।

बारामुला-कुपवाड़ा सीट पर होगा कड़ा मुकाबला

वहीं दूसरी ओर कश्मीर की बारामुला-कुपवाड़ा संसदीय सीट के लिए इस बार मुकाबला टेढ़ी खीर साबित होने वाला है। भले ही इस संसदीय सीट के लिए 9 उम्मीदवार ही मैदान में हों लेकिन कड़ा मुकाबला तय है। इस सीट के लिए कांग्रेस, पीडीपी व नेशनल कांफ्रेंस में टक्कर रही है। इस बार पीपुल्स कांफ्रेंस व भाजपा के उम्मीदवार भी मैदान में हैं। नेशनल कांफ्रेंस ने अकबर लोन, पीडीपी ने क्यूम वानी, कांग्रेस ने हाजी फारूक अहमद मीर, पीपुल्स कांफ्रेंस ने राजा एजाज अली, भाजपा ने एमएम वार को अपना उम्मीदवार बनाया है। इसके साथ लंगेट के निर्दलीय विधायक इंजीनियर रशीद भी मैदान में हैं। इस सीट पर कोई भी उम्मीदवार अन्य उम्मीदवारों के चुनावी गणित को बिगाड़ सकता है। उत्तरी कश्मीर के तीन जिलों बारामुला, बांडीपोर आैर कुपवाड़ा पर आधारित बारामुला संसदीय क्षेत्र में नेकां, कांग्रेस और पीडीपी तीनों का अच्छा खासा प्रभाव है। वर्ष 2014 में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के मुजफ्फर हुसैन बेग यहां से चुनाव जीत सांसद बने।

बारामुला संसदीय सीट पर 1749 मतदान केंद्र

बारामुला संसदीय क्षेत्र तीन जिलों के पंद्रह विधानसभा क्षेत्रों में फैला हुआ है। इसमें कुल 13,17,738 मतदाता हें। इनमें 13,12,148 सामान्य मतदाता हैं जबकि 5590 सर्विस मतदाता हैं। इस सीट के लिए 1749 मतदान केंद्र बनाए गए है। सामान्य मतदाताओं में 676057 पुरुष और 636069 महिलाएं है। इन दोनों सीटों पर कुल 3323472 मतदाता है। 

Posted By: Rahul Sharma