कानपुर, जेएनएन। केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कांग्रेस के गांधी परिवार को सिर्फ चुनाव में नजर आने वाले 'साइबेरियन हंस' की संज्ञा दी है। वहीं, सपा-बसपा गठबंधन पर तंज किया कि इस गठबंधन में हल्दी की गांठ ही नहीं पड़ी है।

भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं केंद्रीय मंत्री उमा भारती सोमवार को भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में कानपुर आईं थी। घंटाघर चौराहे पर सभा में उन्होंने कहा कि नेहरू-गांधी परिवार के यह लोग आराम की जिंदगी जीने वाले हैं। सिर्फ चुनाव में साइबेरियन हंस की तरह नजर आते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष पर हमलावर उमा भारती ने कहा कि संसद में अजीब हरकत करने वाले और सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर गलतबयानी करने वाले राहुल गांधी को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। कांग्रेसियों से नेहरू-गांधी परिवार को उखाड़ फेंकने की अपील की। भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बोलीं, किसी ने सोचा भी नहीं था कि मायावती और मुलायम सिंह एक मंच पर होंगे लेकिन यह डर और लालच की राजनीति है।

महिलाओं और भाजपा का गुणगान

सभा को संबोधित करते हुए महापौर प्रमिला पांडेय ने खुद को 'अम्मा' कहा। इस पर उमा भारती बोलीं, यह भारत में ही संभव है कि कोई महिला खुद को अम्मा कहे। विदेश में तो तलाक का सिस्टम है। महिला एक पुत्र की मां और कई पतियों की पत्नी बनना चाहती है, जबकि भारतीय नारी कई पुत्रों की मां और एक पति की पत्नी बनना चाहती है। अपने सहित सुषमा स्वराज, निर्मला सीतारमण, स्मृति ईरानी, का संदर्भ लेते हुए कहा कि महिलाओं का सम्मान सिर्फ भाजपा में ही संभव है।

यह भी बोलीं

  • मैं झांसी से इस बार भी चुनाव लड़ती तो निश्चित ही जीतती।
  • पुलिस वाले घंटाघर का जाम खुलवा दें। जो भाषण सुनने नहीं आए, वह हमें कोसेंगे।
  • मैंने मंत्रालय छोड़ दिया लेकिन गंगा से प्रेम है। मैं वैसी गंगा देखना चाहती हूं, जैसी भगीरथ लाए थे। उस दिन कानपुर आकर मालपुआ खाऊंगी।

Posted By: Abhishek