रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Lok Sabha Election 2019 - लोकसभा चुनाव के तहत झारखंड में दूसरे चरण (देश के पांचवें) की चार सीटों रांची, खूंटी, कोडरमा तथा हजारीबाग में भी सोमवार को शांतिपूर्ण मतदान संपन्न हो गया। जिन चार सीटों पर चुनाव हुआ उनमें केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी और अर्जुन मुंडा जैसे दिग्गज मैदान में थे।

ऐसे में इस महामुकाबले में मतदाताओं ने भी जमकर वोटिंग की। चारों सीटों पर कुल 64.23 फीसद वोटिंग हुई। 2014 में हुए लोकसभा चुनाव की तुलना में इस बार 0.38 फीसद अधिक मतदान हुआ। मतदान बढऩे की बड़ी वजह 'दैनिक जागरणÓ की मानव शृंखला भी रही। मतदान के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए 'दैनिक जागरणÓ ने राज्य के सभी जिलों में चुनाव आयोग और जिला प्रशासन के सहयोग से 22 अप्रैल को मानव शृंखला का आयोजन किया था। पूरे राज्य में 250 किमी की मानव शृंखला बनी थी। 

  • 61 उम्मीदवारों का भाग्य इवीएम में कैद, 64.23 फीसद मतदान
  • दैनिक जागरण की मानव शृंखला का असर, मतदान में वृद्धि 
  • मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण, नक्सली क्षेत्रों में भी भारी मतदान
  • आधी सीटों पर मतदान संपन्न, 23 को होगी मतों की गणना

सोमवार को भारी सुरक्षा के बीच निर्धारित समय सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ जो शाम चार बजे तक चला। कुछ बूथों पर जहां चार बजे मतदाता कतार में लग गए थे उन्हें भी वोट करने का मौका दिया गया। शुरुआत में कुछ बूथों पर ईवीएम व वीवीपैट मशीनों की खराबी की शिकायत आई, लेकिन समय पर उन्हें दुरुस्त कर मतदान शुरू कराया गया। मतदान के बाद कुल 61 उम्मीदवारों के भाग्य ईवीएम में कैद हो गए। इस तरह, झारखंड में आधी अर्थात कुल सात सीटों पर मतदान संपन्न हो गया। पहले चरण में 29 अप्रैल को पलामू, चतरा तथा लोहरदगा में मतदान संपन्न हुआ था। मतगणना 23 मई हो होगी।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल खियांग्ते ने मतदान के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मतदान पूरी तरह से शांतिपूर्ण हुआ है। उन्होंने कहा कि मॉकपोल के दौरान गड़बड़ी पाए जाने पर 47 बैलेट, 46 कंट्रोल तथा 106 वीवीपैट यूनिटें बदली गईं। इससे इतर चुनाव के दौरान आई तकनीकी खराबी के कारण क्रमश: 47,35 तथा 218 बैलेट, कंट्रोल और वीवीपैट यूनिटें बदली गईं। 

राज्यपाल, धौनी सहित कई दिग्गजों ने भी दिए वोट
राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी, प्रसिद्ध तीरंदाज मधुमिता सहित कई सेलीब्रेटी, मुख्य सचिव डीके तिवारी, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल खियांग्ते, डीजीपी डीके पांडेय, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे सहित भारतीय प्रशासनिक सेवा के कई पदाधिकारियों तथा पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी, अर्जुन मुंडा, हेमंत सोरेन, मंत्री सीपी सिंह, नीलकंठ सिंह मुंडा सहित कई अन्य दिग्गज नेताओं ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने श्रीकृष्ण लोक प्रशासन संस्थान स्थित मतदान केंद्र में वोट दिया। महेंद्र सिंह धौनी अपनी पत्नी साक्षी तथा बेटी जीवा के साथ केवल वोट देने चार्टड प्लेन से रांची पहुंचे। उन्होंने जेवीएम श्यामली स्थित मतदान केंद्र में वोट दिया। 

दो ट्रैक्टर आग के हवाले, वोट बहिष्कार का पोस्टर चिपकाया
आइजी अभियान आशीष बत्रा के अनुसार नक्सल प्रभावित इलाकों व पत्थलगड़ी वाले इलाकों में भी जमकर वोटिंग हुई। हालांकि खूंटी संसदीय क्षेत्र के तमाड़ में माओवादियों ने दिन के 12 बजे दो ट्रैक्टरों को आग के हवाले कर दिया। हालांकि इससे चुनाव कार्य प्रभावित नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि सुरक्षात्मक दृष्टिकोण से संबंधित क्षेत्र के दो बूथ संख्या 296 और 297 का स्थल परिवर्तन किया गया था। ट्रैक्टर मतदानकर्मियों को वहां पहुंचाकर लौट रहा था। ट्रैक्टर पर वोट बहिष्कार का पोस्टर चिपकाए जाने की भी खबर है।

कब कितना हुआ मतदान

  • संसदीय क्षेत्र  : 2009  : 2014 : 2019
  • रांची      44.56  63.68   63.38
  • खूंटी      52.03  66.34   65.22
  • हजारीबाग 53.08 63.69    62.91
  • कोडरमा  56.14  62.51    65.70

1,117 अति संवेदनशील बूथों की हुई ऑनलाइन निगरानी
 भारत निर्वाचन आयोग ने अति संवेदनशील तथा क्रिटिकल 1,117 बूथों में ऑनलाइन निगरानी के लिए वेबकास्टिंग की व्यवस्था की थी। इनमें से कई बूथ सांप्रदायिक दृष्टिकोण से संवेदनशील थे। वेबकास्टिंग के माध्यम से आयोग के पदाधिकारियों ने वहां चल रही मतदान प्रक्रिया की पूरी गतिविधियों को देखा। कोडरमा संसदीय क्षेत्र के 246, रांची के 453, खूंटी के 174 तथा हजारीबाग के 244 बूथों में वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई थी।

कुछ ऐसे अति संवदेनशील बूथ थे जहां लो कनेक्टिविटी के कारण वेबकास्टिंग नहीं हो सकी। इन 1,201 अति संवेदनशील व क्रिटिकल बूथों पर माइक्रो आब्जर्वर तैनात किए गए थे। इनमें कोडरमा में 217, रांची में 507, खूंटी में 164 तथा हजारीबाग में 313 माइक्रो आब्जर्वर शामिल हैं। इन सभी बूथों पर पूरी मतदान प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी की गई। बता दें कि पहले चरण में बूथों पर हुई हुई वेबकास्टिंग से ही पलामू के हुसैनाबाद स्थित बूथ नंबर 157 पर चुनाव कर्मी संजय कुमार सिंह संदिग्ध गतिविधियों में धराया था। इसके बाद उसे तुरंत चुनाव कार्य से हटाते हुए उसके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

एयरपोर्ट पर तैनात रहा एक एयर एंबुलेंस, नहीं पड़ी जरूरत
दूसरे चरण की चार सीटों के लिए रांची एयरपोर्ट पर एक एयर एंबुलेंस तैनात रहा। लेकिन पूरी तरह शांतिपूर्ण मतदान होने के कारण इसकी जरूरत नहीं पड़ी। ऐरोमैक प्राइवेट लिमिटेड से यह एयर एंबुलेंस हायर किया गया था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप